Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''देश खतरे में है और वर्तमान सरकार 2019 में सत्ता से बाहर होनी चाहिए'': शरद यादव

जदयू से निष्कासित पूर्व राज्यसभा सांसद शरद यादव ने विपक्षी पार्टी को एकजुट करने के अभियान में कानपुर पहुंचे हैं। पिछले कुछ महीने शरद यादव के लिए काफी उथल-पुथल भरे रहे हैं।

जदयू से निष्कासित पूर्व राज्यसभा सांसद शरद यादव ने विपक्षी पार्टी को एकजुट करने के अभियान में कानपुर पहुंचे हैं। पिछले कुछ महीने शरद यादव के लिए काफी उथल-पुथल भरे रहे हैं। उन्हें जेडीयू से निकाला गया और राज्यसभा सीट भी गंवानी पड़ी है।

शरद यादव ने मीडिया से बात करते हुए विपक्षी एकता के फॉर्मूले पर बात करते हुए माना कि एकता के रास्ते में बहुत अंतर्विरोध और पेचीदगी है, सभी पार्टियों के अपने हित हैं और प्रभाव वाले क्षेत्र हैं, लेकिन हालात ही एकता बनाने को मजबूर कर रहे हैं।

शरद यादव ने कानपुर में मीडिया से बात करते हुए कहा कि, देश में विपक्षी पार्टियां एकजुट हो रही हैं और हम इसकी दिशा में काम कर रहे हैं। देश खतरे में है और वर्तमान सरकार 2019 में सत्ता से बाहर होनी चाहिए।

2019 में आने वाले चुनावों के लिए हमारा प्रयास यह है कि विपक्षी पार्टियों को एकजुट करके एक बड़ा गठबंधन बनना चाहिए। इससे पहले एनडीए के सहयोगी लगातार किसी न किसी कारणवश गठबंधन से अलग हो रहे हैं।

शत्रुध्न सिन्हा का 'लालू-प्रेम'

भारतीय जनता पार्टी के सांसद शत्रुध्न सिन्हा भी पार्टी की लाईन से हटकर बयान दे रहे हैं। शुनिवार को शत्रुधन सिन्हा ने लालू यादव के समर्थन में बयान दिया था और रविवार देर रात वे बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव से मिलने पटना स्तिथ उनके आवास पर पहुंचे थे।

Next Story
Top