Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हाफिज सईद ने पाकिस्तान सरकार को दिया खुला चैलेंज, कहा-हिम्मत है तो गिरफ्तार करके दिखाओ

मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड और आतंकवादी संगठन जमात-उद दावा का मुखिया हाफिज सईद ने पाकिस्तान सरकार को खुली चुनौती दी है।

हाफिज सईद ने पाकिस्तान सरकार को दिया खुला चैलेंज, कहा-हिम्मत है तो गिरफ्तार करके दिखाओ
X

मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड और आतंकवादी संगठन जमात-उद दावा का मुखिया हाफिज सईद ने पाकिस्तान सरकार को खुली चुनौती दी है। इस चुनौती में हाफिज सईद ने पाकिस्तान को ललकारा है कि उसे गिरफ्तार करके दिखाए।

इसे भी पढ़ेंः मालदीव में 15 दिनों का आपातकाल घोषित, गिरफ्तार हुए सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश

इतना ही नहीं हाफिज सईद ने यह भी कहा कि वह कश्मीरी लोगों के हक में आवाज उठाता रहेगा। हाफिज सईद ने यह चुनौती एक रैली को संबोधित करते हुए दी। रैली में हाफिज सईद ने कहा कि अगर पाकिस्तान सरकार उसे गिरफ्तार करना चाहती है, तो वह आए और मुझे गिरफ्तार करे लेकिन मुझे साल 2018 को कश्मीरियों के लिए समर्पित करने से कोई नहीं रोक सकता।

नवाज शरीफ की अलोचना

रैली में हाफिज सईद ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की भी निंदा की। हाफिज ने कहा कि शरीफ ने कश्मीर के मुद्दे पर कोई भी स्टैंड नहीं लिया। उसने कहा कि अगर नवाज शरीफ ने कश्मीर की आजादी को लेकर कुछ किया होता, तो हम उन्हें दोबारा प्रधानमंत्री चुनने का प्रयास करते।

आतंकी संगठन पर यूएनएससी की टीम करे दौरा

इस रैली में हाफिज सईद ने पाकिस्तान सरकार से मांग की कि वह यूएन सुरक्षा परिषद की टीम को जमात-उद दावा और फलेह-ए-इंसानियत के केंद्रों का दौरा करने की इजाजत दे, ताकि उनके चैरिटी कार्यों को वे भी जान सकें। हाफिज ने कहा, 'हम इंटरनैशनल मॉनिटरिंग टीमों का अपने केंद्रों पर स्वागत करते हैं।'

हाफिज पर 10 मिलयन डॉलर का ईनाम

सईद ने यह भी दावा किया कि अमेरिका और भारत के दबाव के चलते हमारी मीडिया कवरेज भी पाकिस्तान में बैन कर दी गई है। बता दें कि नवंबर तक सईद को पाकिस्तान में उसके घर में नजरबंद रखा गया था, उसके सिर पर 10 मिलियन डॉलर का इनाम है।

गौरतलब है कि मुंबई आतंकी हमलों में जमात-उद दावा का नाम लश्कर ए तैयबा से जुड़ा है। इस आतंकी हमले में 166 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story