Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Telangana Elections 2018 voting Live Updates / कांग्रेस और टीआरएस कार्यकर्ताओं के बीच झड़प, वोटिंग जारी

तेलंगाना विधानसभा चुनाव 2018 (Telangana Elections 2018 voting Live Updates) के लिए आज शुक्रवार सात दिसंबर 2018 की सुबह सात बजे से सभी 119 सीटों पर वोटिंग जारी है, जो शाम पांच बजे तक चलेगी।

Telangana Elections 2018 voting Live Updates / कांग्रेस और टीआरएस कार्यकर्ताओं के बीच झड़प, वोटिंग जारी

तेलंगाना विधानसभा चुनाव 2018 (Telangana Elections 2018 voting Live Updates) के लिए आज शुक्रवार सात दिसंबर 2018 की सुबह सात बजे से सभी 119 सीटों पर वोटिंग जारी है, जो शाम पांच बजे तक चलेगी। लेकिन इसी बीच तेलंगाना राज्य के नागेरकुरनल जिले से खबर आ रही है कि कांग्रेस-टीआरएस (Congress-TRS) कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई है।

बता दें कि सिर्फ वामपंथी चरमपंथ से प्रभावित 13 सीटों पर मतदान की प्रक्रिया शाम चार बजे खत्म हो जाएगी। तेलंगाना में 2.80 करोड़ से ज्यादा मतदाता पंजीकृत हैं।

चुनाव के लिए 32,815 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। मतदान सुगम तरीके से संपन्न कराने के लिए 1.50 लाख से ज्यादा कर्मचारियों को तैनात किया गया है। राज्य में बुधवार शाम पांच बजे चुनाव प्रचार खत्म हो गया था।

अतिरिक्त महानिदेशक (कानून व्यवस्था) जितेन्द्र ने गुरुवार को बताया था कि करीब एक लाख सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। इनमें केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बलों के 25,000 जवान और 20,000 अन्य राज्यों से आए पुलिसकर्मी शामिल हैं।

प्रदेश विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ टीआरएस, कांग्रेस नीत गठबंधन और भाजपा के बीच त्रिकोणीय मुकाबला होने की संभावना है। तेलंगाना में पहली बार मतदाता सत्यापन पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) का उपयोग किया जा रहा है।

राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) रजत कुमार ने गुरुवार को बताया था कि चुनाव में किसी भी गड़बड़ी से निपटने के लिए करीब 446 उड़नदस्ते मुस्तैद रहेंगे।

वहीं, 448 निगरानी टीम हालात पर नजर रखेंगी। साथ ही, 224 वीडियो निगरानी टीम भी बनाई गई हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वामपंथी उग्रवाद प्रभावित सीमावर्ती इलाकों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

तेलंगाना विधानसभा चुनाव अगले साल लोकसभा चुनाव के साथ होना था, लेकिन राज्य कैबिनेट की सिफारिश के मुताबिक छह सितंबर को विधानसभा भंग कर दी गई थी।

मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने समय से पहले चुनाव कराने का विकल्प चुनकर एक बड़ा दाव चला था। सत्तारूढ़ टीआरएस को कड़ी चुनौती देने के लिए कांग्रेस ने तेदेपा, तेलंगाना जन समिति और भाकपा के साथ गठबंधन किया है।

टीआरएस और भाजपा ने यह चुनाव अपने - अपने दम पर लड़ने का फैसला किया है। राव अपनी पार्टी की ओर से स्टार प्रचारक थे जबकि कांग्रेस और भाजपा ने अपने - अपने कद्दावर नेताओं को चुनाव प्रचार के लिए उतारा।

कांग्रेस के लिए संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी सहित अन्य नेताओं ने चुनाव रैलियों के संबोधित किया, जबकि भाजपा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं पार्टी अध्यक्ष अमित शाह सहित अन्य नेताओं ने चुनाव प्रचार किया।

राहुल गांधी ने तेदेपा प्रमुख एवं आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू के साथ एक संयुक्त सभा को भी संबोधित किया था। राव ने 100 सीटों पर जीत हासिल करने का दावा किया है।

वहीं, गांधी ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस नीत गठबंधन अपनी जीत को लेकर आश्वस्त है। हालांकि, पिछला चुनाव (2014) तेदपा के साथ गठजोड़ कर लड़ने वाली भाजपा ने कहा कि उसने इस बार मुकाबले को त्रिकोणीय कर दिया है।

चुनाव मैदान में एक ट्रांसजेंडर सहित कुल 1,821 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। मतगणना 11 दिसंबर को होगी।

Next Story
Share it
Top