Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ममता सरकार के खिलाफ चाय बगान यूनियनों की हड़ताल जारी, जानें कहां फंसा है पेंच?

पश्चिम बंगाल में 26 चाय बगान यूनियनों की तीन दिवसीय हड़ताल का आज दूसरा दिन है। यह हड़ताल न्यूनतम मजदूरी में बढ़ोत्तरी की मांग को लेकर सिलीगुड़ी के तरई और डुअर्स क्षेत्र में किया गया है।

ममता सरकार के खिलाफ चाय बगान यूनियनों की हड़ताल जारी, जानें कहां फंसा है पेंच?

पश्चिम बंगाल में 26 चाय बगान यूनियनों की तीन दिवसीय हड़ताल का आज दूसरा दिन है। यह हड़ताल न्यूनतम मजदूरी में बढ़ोत्तरी की मांग को लेकर सिलीगुड़ी के तरई और डुअर्स क्षेत्र में किया गया है।

इसे भी पढ़ें: 8 अगस्त 2018 राशिफल: जानिए क्या शुभ और अशुभ होगा आज, राशि के अनुसार ये है शुभ रंग और अंक

यहां श्रमिक हड़ताल तक कोई भी काम नहीं करेंगे। यूनियन के श्रमिक चाय बागान में काम करने वाले मजदूरों की न्यूनतम मजदूरी बढ़ाने की मांग कर रहे हैं।
बताते चलें कि राज्य सरकार से न्यूतम मजदूरी बढ़ाने की मांग कई बार चुकी यूनियन ने यह निर्णय कई बैठकों के बाद भी नतीजा नहीं निकलने के बाद लिया है। पश्चिम बंगाल सरकार ने चाय बगानों की न्यूतम मजदूरी 172 रुपये तय की है, जिसका चाय व्यापार यूनियन विरोध कर रहे हैं।
चाय मजदूरों को दैनिक न्यूनतम मजदूरी 150 रुपये है। इसे सरकार ने बढ़ाकर 172 रुपए करने का ऐलान किया है। वहीं मजदूरों का कहना है कि महंगाई के बढ़ने के कारण यह राशि कम है। चाय व्यापारी यूनियनों की मांग है कि सरकार को चाय बगानों के श्रमिकों के लिए न्यूतम दैनिक मजदूरी 300 रुपए करना चाहिए।
इधर महाराष्ट्र सरकार के करीब 17 लाख कर्मचारियों ने सातवें वेतन आयोग की रिपोर्ट लागू करने की मांग सहित विभिन्न मांगों पर दबाव बनाने के लिए तीन दिवसीय हड़ताल पर हैं।
Next Story
Top