Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तसलीमा के नाटक पर रोक, कहा भारत नहीं यह हिन्दुस्तान नहीं सउदी अरब है ये

तसलीमा नसरीन के टीवी सीरि‍यल पर रोक, ट्वि‍ट कर कहा भारत नहीं सउदी अरब जैसा माहौल।

तसलीमा के नाटक पर रोक, कहा भारत नहीं यह हिन्दुस्तान नहीं सउदी अरब है ये
X
कोलकाता। तसलीमा नसरीन द्वारा लिखे गए नाटक पर रोक लगा दी गई है। तसलीमा ने बांग्‍ला नाटक 'दुसाहोबास' (कठिन जिंदगी) की पटकथा लि‍खी थी। नाटक का प्रसारण आकाश अथ चैनल पर कि‍या जाना था। अल्पसंख्यक समूह मिल्ली इत्तेहाद परिषद के अब्दुल अजीज और कोलकाता स्थित टीपू सुल्तान मस्जिद के शाही इमाम मौलाना नुरूर रहमान बरकती ने चैनल को इस धारावाहिक के प्रसारण पर रोक लगाने की मांग करते हुए कहा कि इससे धार्मिक भावनाएं आहत होती हैं। इस पर तसलीमा ने ट्वीट कर कहा है, 'मैं महसूस कर रही हूं जैसे मैं सउदी अरब में रह रही हूं।'


तसलीमा ने कहा कि नए नाटक का प्रसारण गुरूवार से होना था। नाटक शहर में बसे एक हिन्दू परिवार के बारे में हैं। उन्होंने कहा, इस कहानी में धर्म से कोई लेना देना नहीं है। किसी ने भी धारावाहिक को नहीं देखा है। तब वे क्यों इसका विरोध कर रहे हैं? यह कहानी तीन बहनों की है जो उन सामाजिक बुराइयों से लड़ती हैं जो उनके सामने आती हैं। मामले से क्षुब्ध तसलीमा ने ट्वीट करते हुए पश्चिम बंगाल सरकार पर मुस्लिम कट्टरपंथियों का सहयोग करने का आरोप लगाया और कहा, 'अविश्वसनीय, पश्चिम बंगाल सरकार ने महिला अधिकारों पर मेरे आने वाले धारावाहिक पर इसलिए रोक लगा दी, क्योंकि कुछ कट्टरपंथी मुस्लिम लोगों ने आपत्ति जताई। मैं महसूस कर रही हूं जैसे मैं सउदी अरब में रह रही हूं।'

चैनल के प्रवक्ता का कहना है कि, आकाश अथ निर्धारित प्रोग्राम के मुताबिक, गुरुवार रात 10 बजे से 'दुसाहोबास' का प्रसारण करना चाहता है और तैयार है लेकिन चैनल के नियंत्रण से बाहर की स्थिति के कारण हमें धारावाहिक का प्रसारण अनिश्चितकाल के लिए टालने को मजबूर होना पड़ सकता है। अल्पसंख्यक समूह मिल्ली इत्तेहाद परिषद के अब्दुल अजीज ने कहा कि उन्होंने निर्माताओं को पत्र लिखकर धारावाहिक से तसलीमा का नाम एवं उल्लेख वापस लेने और ऐसे दृश्यों को हटाने को कहा है जि‍नसे समुदाय की भावनाएं आहत होती हैं।उन्‍होंने कहा, हमें बताया गया है कि नाटक में कुछ सीन ऐसे डाले गए हैं जो हमारी भावनाओं को ठेस पहुंचा सकते हैं।

आरोप है कि इस धारावाहिक के जरिए तसलीमा कोलकाता लौटने की कोशिश कर रही हैं। इसलिए हम इसका विरोध कर रहे हैं। इससे पहले भी चैनल ने अल्पसंख्यक समूह के दबाव में सभी होर्डिंग से तसलीमा का नाम हटा दि‍या था। कोलकाता स्थित टीपू सुल्तान मस्जिद के शाही इमाम मौलाना नुरूर रहमान बरकती ने कहा, हम चैनल को नाटक का प्रसारण करने की अनुमति नहीं देंगे।

वहीं, अखिल भारतीय अल्पसंख्यक मंच के इदरिस अली ने आरोप लगाया कि तसलीमा राज्य का माहौल बि‍गाड़ना चाहती हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story