Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पढ़िए ई-मेल, तेजपाल ने यौन हमले के बाद मामले को माफी से दबाने की कोशिश की थी

पीड़िता के नाम तरूण का मेल

पढ़िए ई-मेल, तेजपाल ने यौन हमले के बाद मामले को माफी से दबाने की कोशिश की थी

ये है तरूण तेजपाल का वो पहला ई-मेल, जो उन्होंने रेप का आरोप लगने के बाद 19 नवंबर को पीड़िता को किया।

प्रिय......

ये वो औपचारिक माफी नहीं है, जो तुम्हें चाहिए। ये तुम्हारे और मेरे लिए पुरी तरह से अनौपचारिक है। मैं तुमसे अपने उस गलत निर्णय के लिए माफी मांगता हूं, जिससे तुम्हें कष्ट हुआ। ये मेरे लिए भी भयावह है (तुम पहले से ...(बेटी) और ...(पत्नी) को जानती हो)।

मैं तुम्हें ये बताना चाहता हूं कि ये भयावह गलती पुरी तरह से मिस अंडरस्टैंन्डिंग की वजह से हुई। तहलका के दस वर्षों के इतिहास में किसी भी महिला पत्रकार के साथ कोई भी दुर्व्यहार नहीं हुआ है। मैंने हर एक मंच से, न केवल तहलका की महिला पत्रकारों द्वारा किए गए अच्छे काम को हमेशा सराहा है, बल्कि महिला पत्रकारों से हमेशा दूरी भी बनाए रखी है। खुद तुम्हारे साथ न सिर्फ हमेशा अच्छा व्यवहार किया गया बल्कि अच्छे काम के अलावा कुछ भी नहीं पूछा गया। तुम्हारा लगातार आगे बढ़ना हमारे लिए गर्व की बात था।

जैसा कि तुम्हें भी याद होगा, उस मनहूस शाम को हम एक दूसरे से हंसी मजाक के मूड में अपनी इच्छाओं, सेक्स के बारे में बात कर रहे थे। तुम मुझे Bob Geldof की कहानी में ग्राफिक विस्तार, और अमन और असंभव निष्ठा के बारे में बता रही थी।

ये सब हंसी मजाक के मूड में हुआ। मुझे इस बात कि उस समय तक कोई जानकारी नहीं थी, जब तक ...(बेटी) ने मुझ से बात नहीं की। मैं उस समय पूरी तरह हैरान और तबाह हो चुका था। इसके दोनों कारण हैं, क्योंकि तुमने समझा कि ये मैने जान बूझकर किया, जैसा कि वास्तव में नहीं है। दूसरा ये कि अपनी बेटी की मित्र से मैं पूरी तरह लापरवाह और पागलपन कर बैठा।

ये मेरी जिन्दगी का सबसे खराब क्षण था, जिसने मेरी जिन्दगी की सारी कमाई को खत्म कर दिया। मैं तुमसे माफी मांगता हूं और तुमसे इसे भुला देने की गुजारिश करता हूं। मै तुम्हारी मां से भी मुलाकात कर उनसे भी माफी मांगूगा और अगर तुम चाहो तो अमन से भी। मैं ये भी चाहता हूं कि तुम तहलका के साथ काम करती रहो, शोमा को रिपोर्ट करती रहो, जैसा कि तुम पहले करती थी। तहलका और शोमा तुम्हें निराश नहीं होने देंगे।

मुझे मेरी सजा मिल चुकी है, जो शायद मेरी अंतिम सांस तक मुझे मिलती रहेगी।

तरूण

Next Story
Top