Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ताजमहल पर मालिकाना हक: सुप्रीम कोर्ट में शाहजहां के दस्तखत पेश नहीं कर पाया वक्फ, कहा-ताजमहल खुदा की संपत्ति

उत्तर प्रदेश के आगरा में बने दुनिया के सात अजूबों में शामिल ताजमहल के मालिकाना हक को लेकर सुन्नी वक्फ बोर्ड अब थोड़ा नरम पड़ गया है।

ताजमहल पर मालिकाना हक: सुप्रीम कोर्ट में शाहजहां के दस्तखत पेश नहीं कर पाया वक्फ, कहा-ताजमहल खुदा की संपत्ति
X

उत्तर प्रदेश के आगरा में बने दुनिया के सात अजूबों में शामिल ताजमहल के मालिकाना हक को लेकर सुन्नी वक्फ बोर्ड अब थोड़ा नरम पड़ गया है। क्योंकि ताजमहल पर मालिकाना हक जताने वाला सुन्नी वक्फ बोर्ड अपने दावे के समर्थन में मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में शाहजहां के दस्तखत वाला वक्फनामा पेश नहीं कर पाया।

सुनवाई के दौरान अपना पक्ष रखते हुए वक्फ बोर्ड ने कहा कि ताजमहल पर किसी इंसान का हक नहीं हो सकता, इस पर को खुदा का हक है। बोर्ड ने कहा कि जब कोई संपत्ति वक्फ को दी जाती है तो वह खुदा की संपत्ति बन जाती है।

यह भी पढ़ें- J&K: त्राल में आर्मी की पट्रोलिंग पार्टी पर आतंकी हमला, सर्च ऑपरेशन जारी

आपको बता दें कि इससे पहले वक्फ बोर्ड का दावा था कि वह ताजमहल का मालिक है और उसके पास इसके समर्थन में दस्तावेजी साक्ष्य मौजूद है। लेकिन बोर्ड अपने दावे के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट में शाहजहां के दस्तखत वाला वक्फनामा पेश नहीं कर पाया।

वक्फ बोर्ड ने कहा कि उसे ताजमहल को आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) की देख-रेख में बनाए रखने में कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन नमाज और उर्स जारी रखने का बोर्ड का अधिकार बरकरार रहे। इस पर एएसआई ने अधिकारियों से निर्देश लेने के लिए वक्त मांगा। मामले की अगली सुनवाई 27 जुलाई को होगी।

ताजमहल के मालिकाना हक को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने पिछली सुनवाई के दौरान कहा था कि देश में ये कौन विश्वास करेगा कि ताजमहल वक्फ बोर्ड की संपत्ति है। कोर्ट ने वक्फ बोर्ड की दावेदारी जताने पर शाहजहां के हस्ताक्षर वाला डॉक्यूमेंट पेश करने को कहा था।

यह भी पढ़ें- कैश संकट से जल्द मिलेगा छुटकारा, एक महीने में मोदी सरकार सप्लाई करेगी 75 हजार करोड़

ताजमहल के मालिकाना हक को लेकर सुन्नी वक्फ बोर्ड और आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) के बीच विवाद चल रहा है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story