Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इस्लामिक स्टेट सरगना अबू बकर अल-बगदादी का बेटा बद्री मारा गया

इस्लामिक स्टेट समूह ने कहा है कि सीरिया सरकार के बलों से लड़ते हुए उसके नेता अबू बकर अल बगदादी का बेटा हुज़ैफा अल बद्री मारा गया है।

इस्लामिक स्टेट सरगना अबू बकर अल-बगदादी का बेटा बद्री मारा गया
X

इस्लामिक स्टेट समूह ने कहा है कि सीरिया सरकार के बलों से लड़ते हुए उसके नेता अबू बकर अल बगदादी का बेटा हुज़ैफा अल बद्री मारा गया है। बगदादी के छोटे बेटे के मारे जाने की जानकारी मंगलवार देर शाम समूह के सोशल मीडिया अकाउंट पर दी गई।

इसमें युवक की तस्वीर भी जारी की है जिसके हाथ में राइफल है। बयान में इस महीने की तारीख डली हुई है और बताया गया है कि वह अच्छा लड़का था।

यह भी पढ़ें- पाकिस्तान: लाहौर हुआ पानी-पानी, बारिश ने तोड़ा 38 साल का रिकॉर्ड- 8 लोगों की मौत 50 घायल

वह मध्य होम्स प्रांत में एक ऊर्जा स्टेशन पर सीरियाई और रूसी सैनिकों के साथ लड़ाई में मारा गया है। आईएस ने 2014 में इराक के बड़े हिस्से पर कब्जे के बाद सीरिया और इराक में खुद को खलीफा घोषित किया था।

बहरहाल, तब से लेकर अब तक सीरिया और इराकी बलों के आतंकवाद रोधी अभियान में जिहादियों को काफी हद तक खदेड़ दिया गया है।

पिछले साल इराकी सरकार ने आईएस पर जीत का एलान किया था लेकिन सेना अब भी सीरियाई सीमा पर ज्यादातर मरुस्थलीय इलाकों को निशाना बनाकर अभियान चला रही है।

यह भी पढ़ें- VIDEO: फिल्मी अंदाज में दिनदहाड़े बदमाशों ने लूटी बैंक, हथियार लहराते हुए फरार

सीरिया में अब भी जिंदा है बगदादी

इराक के एक खुफिया अधिकारी ने मई में बताया था कि कई मौकों पर माना गया कि आईएस नेता बगदादी मर गया है लेकिन वह अब भी जिंदा है और सीरिया में है।

बगदादी को धरती पर सबसे अधिक वांछित व्यक्ति घोषित किया गया है और अमेरिका ने उसे पकड़ने पर दो करोड़ 50 लाख डॉलर का इनाम घोषित कर रखा है।

डेर अल में अमेरिकी नीत गठबंधन ने की भारी गोलीबारी

सीरियन ऑब्जरवेटरी फॉर ह्यमन राइट्स ने मंगलवार देर शाम बताया कि पूर्वी सीरिया के डेर अल जोर में आईएस के कब्जे वाले अंतिम इलाके में अमेरिका नीत गठबंधन ने भारी गोलाबारी की। ऐसा माना जाता है कि हजिन में कम से कम 12 आतंकवादी मारे गए हैं।

इसने बताया कि दक्षिण पश्चिम सीरिया में लड़ाई से बचकर भाग रहे कम से कम 11 सीरियाई विस्थापितों की बारूदी सुरंग की चपेट में आने से मौत हो गई। संयुक्त राष्ट्र ने मंगलवार को बताया कि दो हफ्ते लंबे हमले ने अब तक 3,30,000 लोगों को विस्थापित कर दिया है।

संयुक्त राष्ट्र के उप प्रवक्ता फरहान हक ने बताया कि जॉर्डन की सरहद के नजदीक बिच्छू काटने, निर्जलीकरण और जल जनित बीमारियों की वजह से दो महिलाओं समेत कम से कम 12 बच्चों की मौत हुई है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story