Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पीएम मोदी से मिलीं स्विस राष्ट्रपति लिउथर्ड, कहा- दोनों देशों के रिश्तों में आएगी मजबूती

दोनों देश व्यापार और निवेश से जुड़े कई अहम समझौतों पर करार कर सकते हैं।

पीएम मोदी से मिलीं स्विस राष्ट्रपति लिउथर्ड, कहा- दोनों देशों के रिश्तों में आएगी मजबूती

स्विट्जरलैंड की राष्ट्रपति डोरिस लिउथर्ड का आज अपनी तीन दिवसीय भारत यात्रा के तहत देश की राजधानी दिल्ली पहुंच गई हैं। राष्ट्रपति भवन में उनका शानदार स्वागत किया गया। बता दें कि स्विट्जरलैंड के किसी राष्ट्रपति का यह चौथा भारत दौरा है। इससे पहले 1998, 2003 और 2007 में स्विट्जरलैंड के राष्ट्रपतियों ने भारत का दौरा किया था।

राष्ट्रपति भवन में अपने स्वागत समारोह से अभिभूत स्विस राष्ट्रपति लिउथर्ड ने कहा कि भारत और स्विट्जरलैंड 70 वर्षों से गहरे दोस्त हैं और इस दौरे से दोनों देशों के रिश्तों में और मजबूती आएगी।

ये भी पढ़े: डोकलाम विवाद के बाद ब्रिक्स सम्मलेन में जिनपिंग से मुलाकात कर सकते हैं पीएम मोदी

स्विस राष्ट्रपति ने आगे कहा, 'हमें आशा है कि दोनों देश कारोबार और साझेदारी से जुड़े लंबित समझौतों को नई दिशा और रफ्तार देंगे। इसके अलावा नए निवेश संरक्षण करार की कोशिश करेंगे।' डोरिस ने कहा कि हम भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यों और सुधारों से बेहद प्रभावित हैं।

बता दें कि दोनों देश व्यापार और निवेश से जुड़े कई अहम समझौतों पर करार कर सकते हैं। विदेश मंत्रालय के मुताबिक, “स्विट्जरलैंड की राष्ट्रपति के साथ वरिष्ठ अधिकारियों और स्विट्जरलैंड की कई बड़ी कंपनियों के कारोबारियों का प्रतिनिधिमंडल भी आया।”

ये भी पढ़े: अब देश में बनेंगे लड़ाकू F-16 विमान, जानिए क्या है इसकी खासियत


भारत यात्रा के दौरान लिउथर्ड भारतीय राष्ट्रपति रामनाथ कोविद से मुलाकात करने के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी वार्ता करेंगी। खास बात यह है कि इस बातचीत के दौरान स्विस बैंक में भारतीयों के काले धन का मुद्दा भी भारत उठा सकता है।

स्विट्जरलैंड, भारत के साथ बिजनेस करने वाला का 7वां बड़ा देश है। स्विट्जरलैंड के साथ 2016-17 में कारोबार 18.2 अरब डॉलर रहा। प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले साल ही स्विट्जरलैंड की यात्रा की थी। इस दौरान स्विट्जरलैंड ने परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में भारत की सदस्यता का समर्थन किया था।

Next Story
Share it
Top