Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Walmart Flipkart डील पर स्वदेशी जागरण मंच ने जताई आपत्ति, कहा- डील से किसानों और छोटे व्यापारियों का होगा नुकसान

वॅालमार्ट और फ्लिपकार्ट के बीच हुई डील को लेकर आरएसएस की सहयोगी स्वदेशी जागरण मंच ने विरोध प्रदर्शन किया है। स्वदेशी जागरण मंच का आरोप है कि इस डील के जरिए वॅालमार्ट पिछले दरवाजे से भारत में पैर पसारने की कोशिश कर रही है।

Walmart Flipkart डील पर स्वदेशी जागरण मंच ने जताई आपत्ति, कहा- डील से किसानों और छोटे व्यापारियों का होगा नुकसान
X
दुनिया की सबसे बड़ी खुदरा कंपनी वॅालमार्ट द्वारा देश की सबसे बड़ी ई-कॅामर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट को खरीदने को लेकर आरएसएस ने नाराजगी जाहिर की है। बता दें कि वॅालमार्ट और फ्लिपकार्ट के बीच कल हुई डील को लेकर आरएसएस की सहयोगी स्वदेशी जागरण मंच ने विरोध प्रदर्शन किया है।
स्वदेशी जागरण मंच का आरोप है कि इस डील के जरिए वॅालमार्ट पिछले दरवाजे से भारत में पैर पसारने की कोशिश कर रही है। मंच ने वॅालमार्ट और फ्लिपकार्ट की इस डील को लेकर चिंता जाहिर की है कि इससे छोटे कारोबारियों और छोटें दुकानदारों पर गहरा प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा और उनके सामने रोजी रोटी की समस्या पैदा हो जाएगी।
मंच ने दावा किया है कि वॉलमार्ट ई-कॉमर्स के नियमों को तोड़ मरोड़कर चुपके से मल्टीब्रांड रिटेल में घुसने की तैयारी में है। जागरण मंच के मुताबिक आरएसएस और भाजपा शुरू से मल्टीब्रांड रिटेल में विदेशी निवेश के खिलाफ रही है, क्योंकि ये एंटरप्रेन्योर के खिलाफ है और किसान विरोधी है।
यहीं नहीं स्वदेशी जागरण मंच ने वॅालमार्ट और फ्लिपकार्ट के बीच इस डील को लेकर पीएम मोदी से भी इस मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की है। यहीं मंच ने पीएम मोदी को एक पत्र भी लिखा है जिसमें मंच ने लिखा कि समाज के निचले पायदान के लोगों के हितों के साथ देश के कृषि क्षेत्र की सुरक्षा निश्चित की जाएं।
आपको बता दें कि कल यानी बुधवार को दुनिया की सबसे बड़ी खुदरा कंपनी वॅालमार्ट ने देश की सबसे बड़ी ई-कॅामर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट को खरीद लिया है। आपको बता दें कि वॅालमार्ट ने 9 खरब रुपए में फ्लिपकार्ट के 77 फीसदी शेयरों को खरीदा है।
आपको बता दें कि वॅालमार्ट और फ्लिपकार्ट के बीच हुई इस डील को भारत के सबसे बड़े विलय और अधिग्रहण के तौर देखा जा रहा हैं। इस डील के बाद फ्लिपकार्ट के दो सह-संस्थापक में से एक बिन्नी बंसल फ्लिपकार्ट का संचालन करते रहेंगे। वहीं दूसरे सह-संस्थापक सचिन बंसल कंपनी में अपनी पूरी 5.5 फीसदी की हिस्सेदारी को बेचकर कंपनी से बाहर हो गए हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story