Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खालिस्तान समर्थक रैली के पीछे भारत में बम विस्फोट मामले का संदिग्धः रिपोर्ट

वर्ष 2010 में पंजाब और हरियाणा में हुए विस्फोटों में कथित संलिप्तता के लिए भारत में वांछित एक संदिग्ध यहां ट्राफलगर स्क्वायर पर अगले सप्ताह खालिस्तान समर्थक एक रैली का आयोजन कर रहा है।

खालिस्तान समर्थक रैली के पीछे भारत में बम विस्फोट मामले का संदिग्धः रिपोर्ट
X

वर्ष 2010 में पंजाब और हरियाणा में हुए विस्फोटों में कथित संलिप्तता के लिए भारत में वांछित एक संदिग्ध यहां ट्राफलगर स्क्वायर पर अगले सप्ताह खालिस्तान समर्थक एक रैली का आयोजन कर रहा है।

‘संडे टाइम्स' की एक खबर के अनुसार बर्मिंघम में रहने वाला परमजीत सिंह पम्मा उस रैली के प्रमुख आयोजकों में शामिल है जिसे ‘‘रिफ्रेंडम 2020' अभियान के लिए ‘‘लंदन डिक्लेरेशन' का नाम दिया गया है।
पम्मा 2010 में पटियाला और अंबाला में हुए दो बम विस्फोटों के मामले में भारत में वांछित है और वह 2009 में राष्ट्रीय सिख संगत के प्रमुख रूल्दा सिंह की हत्या का कथित षड्यंत्रकर्ता है। पम्मा को ब्रिटेन ने 2000 में शरण दी थी और वह इन आरोपों से इनकार करते हुए इन्हें ‘‘झूठे आरोप' बताता है।
समाचारपत्र की खबर के अनुसार उसका दावा है कि अगले सप्ताह ट्राफलगर स्क्वायर पर आयोजित होने वाली रैली में 10000 सिखों के हिस्सा लेने की उम्मीद है।
विदेश मंत्रालय ने गत महीने रैली की खबर आने के बाद एक बयान जारी करके कहा था कि उसने ब्रिटेन की सरकार के समक्ष एक औपचारिक विरोध दर्ज कराया है। यद्यपि ब्रिटेन सरकार ने संकेत दिया है कि उसकी रैली को प्रतिबंधित करने की कोई योजना नहीं है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story