logo
Breaking

सुषमा ने सदन में बयां किया जाधव की मां का दर्द, लगे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे

पाकिस्तान में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मुद्दे पर सदन गर्म रहा। दोनों सदनों में पाकिस्तान का विरोध जताया गया, वहीं लोकसभा में पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे तक लगाए गए।

सुषमा ने सदन में बयां किया जाधव की मां का दर्द, लगे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे

पाकिस्तान में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मुद्दे पर सदन गर्म रहा। दोनों सदनों में पाकिस्तान का विरोध जताया गया, वहीं लोकसभा में पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे तक लगाए गए। पाकिस्तान में कैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मुद्दे पर सदन गर्म रहा। दोनों सदनों में पाकिस्तान का विरोध जताया गया, वहीं लोकसभा में पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे तक लगाए गए। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राज्यसभा और लोकसभा में बयान दिया।

सुषमा ने राज्यसभा को बताया कि जब वह जाधव की मां से मिली थीं तो उन्होंने भावुक होकर पाकिस्तान की ओर अपनाए गए बर्ताव को बयां किया। मां ने कहा, उनका मंगलसूत्र तक उतरवा दिया गया, लेकिन जब जाधव ने उन्हें सामने देखा तो सबसे पहले पूछा कि बाबा ठीक तो है? दोनों ही सदनों में पाकिस्तान का विरोध जताया गया और लोकसभा में पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे तक लगाए गए।

यह भी पढ़ें- तीन तलाक: लोकसभा में बिल पास होने पर देश भर में जश्न, कांग्रेस की महिला सांसद ने उठाए सवाल

सुषमा ने बताया, भारत और पाकिस्तान के बीच इस मुलाकात को लेकर जो समझौता हुआ था, उसमें यह स्पष्ट था कि मीडिया को इस मुलाकात से दूर रखा जाएगा। लेकिन पाकिस्तान ने धोखा देते हुए न सिर्फ मीडिया को वहां आने दिया, बल्कि एक गंदे षड्यंत्र के तहत जाधव परिवार को ऐसे दरवाजे से बाहर निकाला, जिससे मीडियाकर्मियों ने उन्हें घेर लिया और भद्दे सवाल पूछना शुरू कर दिया।

विदेश मंत्री ने बताया जाधव की मां और पत्नी ने मुझे बताया कि जाधव बेहद तनाव में दिख रहे थे और ऐसा लग रहा था कि वह दबाव में बोल रहे हैं। बातचीत आगे बढ़ने पर यह साफ हो गया कि उन्हें कैद करने वालों ने उनको जो सिखा पढ़ा कर भेजा था वह वही बोल रहे थे और इसका उद्देश्य उनकी तथाकथित गतिविधियों की झूठी कहानी को सही सिद्ध करना था। उनकी बोलचाल और हावभाव से पता चल रहा था कि वह पूरी तरह स्वस्थ भी नहीं हैं।

विपक्ष के नेता बोले, अपमान बर्दाश्त नहीं सदन में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जाधव की मां और पत्नी के साथ दुर्व्यवहार देश के 130 करोड़ भारतीयों की मां और पत्नियों के साथ दुर्व्यवहार है। उन्होंने कहा हम माताओं, बहनों और देश की मर्यादा का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे।

सरकार के प्रयासों की सराहना

सपा के राम गोपाल यादव, तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन, जदयू के हरिवंश, बीजद के दिलीप तिर्की, माकपा के तपन कुमार सेन, तेदेपा के टी देवेन्द्र गौड़, बसपा के वीर सिंह, द्रमुक के तिरूचि शिवा, भाकपा के डी राजा, अन्नाद्रमुक के नवनीत कृष्णन, अकाली दल के सुखदेव सिंह ढींढसा, आईएमएल के अब्दुल वहाब, शिवसेना के संजय राउत, भाजपा के भूपेन्द्र यादव और आरपीआई के रामदास अठावले ने इस मुद्दे पर सरकार का समर्थन किया।

यह भी पढ़ें- खुशखबरी: पासपोर्ट बनाने के लिए नहीं लगाने पड़ेंगे बड़े शहरों के चक्कर, जानें पूरा मामला

जाधव की रिहाई की अपील

राज्यसभा में सभापति नायडू ने कहा कि पूरा सदन सरकार के प्रयासों की सराहना करता है और सरकार से जाधव की सुरक्षित रिहाई के लिए कदम उठाने की अपील करता है। उन्होंने सरकार से अंतरराष्ट्रीय समुदाय को यह बताने के लिए भी कहा कि पाकिस्तान ने अमानवीय तरीके से आचरण किया।

दो बार सुरक्षा जांच

सुषमा ने अपने बयान में कहा, जूतों को पहनकर जाधव की पत्नी एयर इंडिया से दुबई और वहां से एमिरेट्स की फ्लाइट से इस्लामाबाद पहुंची थी। दो-दो बार सिक्युरिटी चेक हुआ था। चलिए आप शक कर सकते हैं कि एयर इंडिया ने शायद मदद कर दी हो। लेकिन एमिरेट्स जैसी फ्लाइट जो दुबई से इस्लामाबाद जाती हो, वहां पूरा सिक्युरिटी चेक हुआ। वहां किसी को रिकॉर्डर और चिप नजर नहीं आई। जब मीडिया का इतना बड़ा तमाशा खड़ा कर रखा था, चिप थी तो उसी वक्त दिखाते, अब शरारत कर रहे हैं।

Loading...
Share it
Top