Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

चीन के बाद मंगोलिया की यात्रा पर सुषमा स्वराज, ''भारत-मंगोलिया संयुक्त समिति'' में लेंगी हिस्सा

शंघाई सहयोग संगठ में हिस्सा लेने और चीन की चार दिन की यात्रा के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज मंगलवार शाम मंगोलिया पहुंची। सुषमा स्वराज यहा दो दिन के राजकीय दौरे पर आईं है।

चीन के बाद मंगोलिया की यात्रा पर सुषमा स्वराज,

शंघाई सहयोग संगठ में हिस्सा लेने और चीन की चार दिन की यात्रा के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज मंगलवार शाम मंगोलिया पहुंची। सुषमा स्वराज यहा दो दिन के राजकीय दौरे पर आईं है।

इसे भी पढ़ेः संचार क्रांति को बढ़ावा देने के लिए सरकार की पहल, 2 लाख 78 हजार लोगों को मिलेगा स्मार्टफोन

पिछले 42 सालों में संसाधनों से प्रचुर इस देश में आने वाली वह पहली भारतीय विदेश मंत्री हैं। मंगोलिया के उप-विदेश मंत्री बी. बत्सेतसेग ने हवाईअड्डे पर उनका स्वागत किया।

आज विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उलानबातर में गंडेंटेग्चिनलेन मठ तथागत बुद्ध के दर्शन के किए और बौद्ध भिक्षु से मुलाकात की। सुषमा स्वराज 6वीं 'भारत-मंगोलिया संयुक्त समिति' की बैठक से पहले के विदेश मंत्री मंगोलिया दमदीन त्सोग्बातर से मुलाकात की।

सुषमा स्वराज इन दो दिनों में इस बौद्ध देश के साथ राजनीतिक, रणनीतिक, आर्थिक, शैक्षिक और सांस्कृतिक संबंधों को और मजबूत करने के लिए द्विपक्षीय वार्ता करेंगी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया कि 42 साल में पहली बार किसी भारतीय विदेश मंत्री का मंगोलिया दौरा। हमारी साझा बौद्ध विरासत दोबारा जुड़ रही है, मंगोलिया के उप विदेश मंत्री बी बत्सेतसेग ने उलानबातर आने पर उनका गर्मजोशी से स्वागत किया।

अपने मंगोलिया दौरे के दौरान सुषमा 'भारत-मंगोलिया संयुक्त समिति' के छठे दौर की बैठक करेंगी। मंगोलिया के विदेश मंत्री डी तोगतबातर के साथ सह अध्यक्षता करेंगी।

इन मुद्दों पर होगी चर्चा

व्यापार, अर्थव्यवस्था, विज्ञान, स्वास्थ्य, कृषि, संस्कृति, शिक्षा, संचार और पर्यटन के क्षेत्र में भारत और मंगोलिया में करीबी संबंध हैं। दोनों देश सुरक्षा, अंतरराष्ट्रीय अपराध और आतंकवाद पर लगाम लगाने की दिशा में भी मिलकर काम कर रहे हैं।

Next Story
Top