Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जाधव की मां-पत्नी पर पाकिस्तान सरकार ने बनाया दबाव, संसद में बोली सुषमा, पढ़िए पूरी स्पीच

राज्यसभा के सभापति को संबोधित करते हुए सुषमा स्वराज ने बताया कि पाकिस्तान ने जाधव की परिवार से मुलाकात को प्रोपेगेंडा बनाया है।

जाधव की मां-पत्नी पर पाकिस्तान सरकार ने बनाया दबाव, संसद में बोली सुषमा, पढ़िए पूरी स्पीच

कुलभूषण जाधव और उनके परिवार की मुलाकात के दौरान पाकिस्तान द्वारा की गई बदसलूकी पर भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में बयान दिया है।

राज्यसभा के सभापति को संबोधित करते हुए सुषमा स्वराज ने बताया कि पाकिस्तान ने जाधव की परिवार से मुलाकात को प्रोपेगेंडा बनाया है। पाकिस्तानी सरकार द्वारा जाधव की मां और पत्नी के गहने और मंगलसूत्र उतरवाने के मामले पर सुषमा ने कहा कि पाकिस्तान सरकार ने जाधव के सामने सुहागिनों को विधवा की तरह पेश किया।

इसे भी पढ़ेंः आज संसद में तीन तलाक विधेयक होगा पेश, बीजेपी ने जारी किया बड़ा आदेश

पाकिस्तान जूते पर शरारत कर सकता है। जाधव की मां सिर्फ साड़ी पहनती हैं, उनके भी कपड़े भी बदलवा दिए गए। मीडिया को मां और पत्नी के नजदीक आने दिया गया, जो हमारी शर्तों के खिलाफ था। जाधव की पत्नी के जूते नहीं दिए थे।

स्वस्थ नहीं दिखे जाधव

सुषमा स्वराज ने जूते में चिप होने वाले मामले में कहा कि एयरपोर्ट में किसी को चिप नहीं दिखी। जाधव की पत्नी के जूते नहीं दिए। उन्होंने जाधव के स्वास्थय पर भी कहा कि परिवार से मुलाकात के दौरान जाधव स्वस्थ नहीं दिखे। पाकिस्तान ने लगातार मानव अधिकार का उल्लंघन किया है। मुलाकात के दौरान पाकिस्तान सरकार ने जाधव के परिवार पर दबाव बनाया।

इसे भी पढ़ेंः चुनाव बदलेगा सरकार की चाल, बजट फरवरी में खत्म-मार्च में घूमेगा लोकसुराज का पहिया

दो गजह हुई चैकिंग

पाकिस्तान में जाने से पहले एयरपोर्ट पर दो जगह मां और पत्नी की चैकिंग हुई, तो क्या जब कोई चिप नहीं दिखाई दी। पूरा सदन पाकिस्तान के इस व्यवहार की निंदा करता है। कुलभूषण ने अपनी मां को देखते ही सबसे पहले पूछा कि बाबा कैसे हैं क्योंकि जैसे ही उसने मां को बिना मंगलसूत्र और चूड़ी के देखा उसे शक हुआ कि कहीं कुछ अशुभ ना हो गया हो।

मराठी में बात करना चाहती थी मां

कुलभूषण ने सबसे पहला सवाल पूछा कि बाबा कैसे हैं। सुषमा ने कहा कि दोनों सुहागनों को एक विधवा की तरह पेश किया गया। जाधव की मां अपने बेटे से मराठी में बात करना चाहती थी। जब वो बात करती थी, तो इंटरकोम को बंद किया गया।

Next Story
Share it
Top