Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारतीय सेना ने POK घुसकर मार गिराए 38 आतंकी, पाक में घबराहट

भारतीय स्पेशल फोर्स के जवानों ने पीओके में घुसकर आतंकियों पर अटैक किया।

भारतीय सेना ने POK घुसकर मार गिराए 38 आतंकी, पाक में घबराहट
नई दिल्ली. उरी हमले के बाद लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर बने भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव के मद्देनजर पीएम मोदी कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्युरिटी (सीसीएस) की हैं। इसके बाद डीजीएमओ ने बताया कि उन्हें पक्की इन्फॉर्मेशन के आधार पर पता लगा था कि कुछ आतंकी एलओसी पर मौजूद थे। इसलिए वहां सेना द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक किया गया और सेना ने 38 आतंकियों को मार गिराया।
जानकारी के मुताबिक आतंकियों का मकसद भारत में घुसपैठ कर आतंकी हमलों को अंजाम देना था। इंडियन आर्मी ने बताया कि बुधवार रात सर्जिकल स्ट्राइक किया गया था। डीजीएमओ ने बताया कि, "हमने सुनिश्चित किया था कि ये आतंकी अपने मंसूबों में कामयाब न हों। काउंटर ऑपरेशंस में काफी नुकसान पहुंचा है। आतंकियों को नेस्तनाबूद करने का यह ऑपरेशन अभी रुका हुआ है। इसे दोबारा चलाने का अभी कोई प्लान नहीं है।' माना जा रहा है कि एक घंटे से भी कम वक्त में इंडियन आर्मी ने वहां 38 आतंकी मार गिराए हैं।
इंडियन आर्मी ने कहा कि अभी पाक के डीजीएमओ से बात की और उन्हें भी कल रात हुए सर्जिकल ऑपरेशन के बारे में बता दिया है। भारत इस क्षेत्र में अमन चाहता है। लेकिन हम नहीं चाहते कि एलओसी पर खतरा पैदा हो और हमारे देश के लोगों की जान खतरे में पड़े। पाक जनवरी 2004 के अपने वादे पर कायम रहे। हम उम्मीद करते हैं कि पाक आर्मी हमारे साथ कोऑपरेट करेगी और इस रीजन से आतंकवाद का खात्मा करने की दिशा में मदद करेगी।
आपके बता दें कि भारतीय सेना को जब पता चला कि एलओसी पर पाकिस्तानी आतंकी मौजूद हैं तो एक सर्जिकल आपरेशन किया गया जिसमे पीओके पर भारतीय सेना के स्पेशल फ़ोर्से के जवानों ने पीओके में घुसकर आतंकियों पर अटैक किया और करीब 38 आतंकियों को मार गिराया। बहरहाल भारतीय सेना ने पकिस्तान की घुसपैठ की कोशिश नाकाम कर दी है और उसे मुंह तोड़ जवाब दिया है।
ज्ञात हो कि एलओसी पर बुधवार रात फिर सीजफायर वॉयलेशन हुआ था। पाकिस्तान का कहना है कि सीजफायर फायरिंग में पाकिस्तान के दो जवान मारे गए हैं। यह दावा पाकिस्तान के इंटर सर्विसेस पब्लिक रिलेशन्स ने किया है। यह फायरिंग रात करीब ढाई बजे से सुबह 8 बजे तक हुई थी। आपको बता दें कि पिछले साल अगस्त के बाद पाकिस्तान की भारी फायरिंग के कारण एलओसी के आसपास के गांवों के 32 हजार लोगों को अपना घर छोड़कर जाना पड़ा था। 1971 के बाद यह पहला मौका था, जब बॉर्डर और एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से इतनी ज्यादा फायरिंग हुई थी।
इस सर्जिकल स्ट्राइक आपरेशन के बाद पकिस्तान ने इस बात से इनकार करते हुए कहा है कि, भारत की तरफ से ऐसा कोई भी आपरेशन नहीं किया गया है। पाक के पीएम नवाज शरीफ ने कहा कि भारत इसे हमारी कमजोरी न समझे।
साभार- इंडिया
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top