Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पहले भी हुई हैं सर्जिकल स्ट्राइक: विदेश सचिव

बिपिन रावत ने भी सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

पहले भी हुई हैं सर्जिकल स्ट्राइक: विदेश सचिव
नई दिल्ली. सर्जिकल स्ट्राइक पहली बार किए जाने का रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर का दावा सवालों के घेरे में आ गया है। मंगलवार को विदेश मंत्रालय की संसदीय समिति को जानकारी दी गई कि सेना पहले भी एलओसी पर सर्जिकल स्ट्राइक जैसी कार्रवाई करती रही है, पर सरकार ने पहली बार इसे सार्वजनिक किया है। बैठक में विदेश सचिव एस जयशंकर ने विदेश मंत्रालय की संसद की स्थायी समिति को यह जानकारी तब दी जब सांसदों ने उनसे विशेष तौर पर यह पूछा कि सर्जिकल स्ट्राइक क्या पहले भी हुई हैं? बैठक में मौजूद सूत्रों ने बताया कि विशिष्ट लक्ष्य वाले, सीमित क्षमता के आतंकवादी विरोधी ऑपरेशन्स पहले भी हुए हैं, पर ऐसा पहली बार हुआ है कि सरकार ने इसे सार्वजनिक किया है।
पहले जो ऑपरेशन्स हुए थे वो स्थानीय स्तर
विदेश सचिव द्वारा दी गई यह जानकारी इसलिए अहम है क्योंकि पिछले दिनों रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कांग्रेस के दावों को खारिज करते हुए कहा था कि यूपीए सरकार के दौरान कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हुई। उन्होंने जोर देकर रहा था कि उड़ी हमले के बाद भारतीय सेना की ओर से सर्जिकल स्ट्राइक पहली बार की गई, इसके पहले जो ऑपरेशन्स हुए थे वो स्थानीय स्तर पर कमांडरों द्वारा संभाले जाते थे, सरकार को उसमें शामिल नहीं किया जाता था।
सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में विस्तृत जानकारी
नाम गोपनीय रखने की शर्त पर एक सदस्य ने कहा कि विदेश सचिव जयशंकर ने उन्हें यह भी बताया कि सर्जिकल स्ट्राक के बाद पाकिस्तान से बात की जा रही है, पर भविष्य के लिए अभी तक कोई 'कैलेंडर' तैयार नहीं किया गया है और न ही ये तय कि किस स्तर पर बातचीत की जाएगी। उन्होंने कहा कि ऑपरेशन्स के खत्म होने के तुरंत बाद पाकिस्तानी आर्मी के डीजीएमओ को इस बारे में जानकारी दे दी गई थी। ढाई घंटे चली बैठक में, उप-सेना अध्यक्ष लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत ने भी सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में विस्तृत जानकारी दी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top