Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Surgical Strike 2: सेना का मंगल वार , पुलवामा का बदला, पाक में घुसकर बरसाए बम, एयर स्ट्राइक में 350 आतंकी ढेर

पुलवामा हमले का बदला लेने के लिए भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान मिराज ने मंगलवार सुबह 3.30 बजे पाकिस्तान के अंदर बालाकोट, मुजफ्फराबाद और चकोठी में घुसकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को तबाह कर दिया।

Surgical Strike 2: सेना का मंगल   वार  , पुलवामा का बदला, पाक में घुसकर बरसाए बम, एयर स्ट्राइक में 350 आतंकी ढेर

पुलवामा हमले का बदला लेने के लिए भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान मिराज ने मंगलवार सुबह 3.30 बजे पाकिस्तान के अंदर बालाकोट, मुजफ्फराबाद और चकोठी में घुसकर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को तबाह कर दिया। यहां भारतीय वायुसेना ने 1000 किलो बम गिराए। बालाकोट पाकिस्तान के एबटाबाद के पास स्थित है।

एलओसी से बालाकोट की दूरी 88 किलोमीटर है। एबटाबाद वही इलाका है, जहां ओसामा बिन लादेन छिपा था। बताया जाता है कि 21 मिनट तक वायुसेना की ये सर्जिकल स्ट्राइक चली, इसमें जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैएबा, हिजबुल मुजाहिद्दीन के कैंप तबाह हुए हैं। इसमें 350 से ज्यादा आतंकवादी और उनके प्रशिक्षक मारे गए हैं, जो भारत में आत्मघाती हमलों की तैयारी कर रहे थे।

भारतीय वायुसेना द्वारा किए गए हवाई हमलों का ब्योरा देते हुए विदेश सचिव विजय गोखले ने पूर्वाह्न साढ़े ग्यारह बजे अपने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ठोस खुफिया सूचना मिली थी कि जैश-ए-मोहम्मद देश के विभिन्न हिस्सों में अन्य आत्मघाती हमले की योजना बना रहा है। इस उद्देश्य के लिए फिदायीन जिहादी तैयार किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसलिए यह हमला अत्यंत आवश्यक हो गया था।

गोखले ने कहा, खुफिया जानकारी के आधार पर आज तड़के चलाए गए अभियान में भारत ने जैश-ए-मोहम्मद के बालाकोट स्थित सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर हमला किया। उन्होंने कहा, इस अभियान में जैश-ए-मोहम्मद के बड़ी संख्या में आतंकवादी, प्रशिक्षक, वरिष्ठ कमांडर मारे गए और जिहादियों के समूह नष्ट हो गए जिन्हें फिदायीन हमलों का प्रशिक्षण दिया जा रहा था।

गोखले ने बयान पढ़ते हुए कहा कि आम लोगों की मौजूदगी से काफी दूर बालाकोट में घने जंगल में पहाड़ी पर स्थित आतंकी शिविर का संचालन जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर का रिश्तेदार मौलाना यूसुफ अजहर उर्फ उस्ताद गौरी करता था। बयान में यह नहीं बताया गया कि हमले में यूसुफ अजहर मारा गया या नहीं।

उन्होंने कहा कि आसन्न खतरे के मद्देनजर एहतियाती हमला ‘अत्यावश्यक' हो गया था और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत सभी कदम उठाने को प्रतिबद्ध है। गोखले ने कहा कि भारत चाहता है कि पाकिस्तान जैश-ए-मोहम्मद के शिविरों सहित सभी आतंकी ठिकानों को नष्ट करे।

हमलों के कुछ घंटे बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुरक्षा संबंधी कैबिनेट कमेटी की बैठक की अध्यक्षता की जिसमें वित्त मंत्री अरुण जेटली, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, गृहमंत्री राजनाथ सिंह और रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण मौजूद थीं। आतंकी ठिकानों पर भारत के हवाई हमलों की विभिन्न दलों के नेताओं ने सराहना की। भाजपा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की राजनीतिक इच्छाशक्ति से यह संभव हो पाया।

वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारतीय वायुसेना की सराहना की और इसके पायलटों को सलाम किया। भाजपा महासचिव राम माधव ने कहा, प्रत्येक भारतीय को, जिसके दिल में हमारे बलों की शहादत पर दर्द और गुस्सा था, आज सुबह उन्हें काफी राहत और खुशी मिली। अभियान के लिए वायुसेना को सलाम। यह हमारे प्रधानमंत्री और उनकी टीम की राजनीतिक इच्छाशक्ति है जिससे यह संभव हो पाया।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि जैश-ए-मोहम्मद के शिविरों पर भारतीय वायुसेना का हमला ‘पूरी तरह से एक नया तरीका' है क्योंकि यह पहली बार हुआ है जब पड़ोसी देश में आतंकी ठिकानों को निशाना बनाने के लिए शांतिकाल में हवाई शक्ति का इस्तेमाल किया गया है।

इस्लामाबाद में विदेश कार्यालय के उच्चाधिकारियों के साथ ‘आपातकालीन बैठक' के बाद कुरैशी ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को जानकारी दी। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘पहले, उन्होंने (भारत) आज पाकिस्तान के खिलाफ हमला किया। यह नियंत्रण रेखा का उल्लंघन है। मैं इसे नियंत्रण रेखा का उल्लंघन मानता हूं और पाकिस्तान को आत्मरक्षा में उपयुक्त जवाब देने का अधिकार है।

इससे पहले, पाकिस्तानी सेना ने कहा कि भारतीय वायुसेना ने मुजफ्फराबाद सेक्टर में नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया। पाकिस्तानी सेना की मीडिया शाखा अंतर-सेवा जन संपर्क (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट किया, भारतीय वायुसेना के विमान मुजफ्फराबाद सेक्टर से घुसे। पाकिस्तानी वायुसेना की ओर से समय पर और प्रभावी जवाब मिलने के बाद वे जल्दबाजी में अपने बम गिराकर बालाकोट के पास से बाहर निकल गए। जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है।

उन्होंने ट्वीट किया, भारतीय वायुसेना ने नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया है। पाकिस्तानी वायुसेना ने तुरंत जवाब दिया। भारतीय विमान लौट गए। हमले के बाद भारतीय सेना ने राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की यह कविता ट्वीट की है।

'क्षमाशील हो रिपु-समक्ष

तुम हुए विनीत जितना ही,

दुष्ट कौरवों ने तुमको

कायर समझा उतना ही।

सच पूछो, तो शर में ही

बसती है दीप्ति विनय की,

सन्धि-वचन संपूज्य उसी का जिसमें शक्ति विजय की।'

यह ट्वीट अतिरिक्त महानिदेशक, जन सूचना के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किया गया है।

आतंकियों के ये ठिकाने तबाह

1. बालाकोट

खैबर पख्तुनख्वा प्रांत के मनशेरा जिले में है बालाकोट राजधानी इस्लामाबाद से 160 किलोमीटर की दूरी जैश-ए-मोहम्मद का यह सबसे बड़ा कैंप

2. मुजफ्फराबाद

मुजफ्फराबाद झेलम-नीलम नदी के किनारे बसा जिला भारत के कुपवाड़ा और बारामुला जिले के करीब इसकी नींव साल 1646 में सुलतान मुजफ्फर खान ने रखी थी

3. चकोठी

चकोठी पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर का हिस्सा मुजफ्फराबाद से 52 किलोमीटर दूर स्थित मुजफ्फराबाद श्रीनगर बस सर्विस की चेक पोस्ट

4. 10 और ठिकाने

आतंकियों के छोटे-बड़े ठिकानों पर बरसाए बम

पुलवामा के बाद अब तक

मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीना

व्यापारिक रिश्ते खत्म किए

सीमाशुल्क 200 फीसदी बढ़ाया

पाकिस्तान जाने वाला पानी रोका

यूएन से कराया निंदा प्रस्ताव पास

मित्र देशों को सौंपे हमले के सबूत

और अब पाक में घुसकर आतंकियों को मारा

मिराज पहुंचे पीओके

आईएएफ सूत्रों की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक एयरफोर्स के 12 मिराज जेट्स पीओके के बालाकोट तक दाखिल हुए। यहां पर उन्होंने जैश के ठिकानों पर हमला किया। करीब 1000 किलोग्राम बम एलओसी के पार आतंकी कैंपस पर गिराए गए हैं। बताया जा रहा है कि हमले में जैश के ठिकानें पूरी तरह से तबाह हो गए हैं।

कारगिल वॉर के बाद पहली बार

साल 1999 में हुई कारगिल जंग के बाद पहला मौका है, जब भारतीय वायुसेना के जेट्स ने एलओसी पार की है। सूत्रों की ओर से दी मिराज जेट्स की ओर से लेजर गाइडेड बम पीओके स्थित कैंपस पर गिराए गए हैं। इन जेट्स ने पुंछ से टेक ऑफ किया था। जेट्स के अलावा मिड एयर रिफ्यूलर बम, अर्ली वॉर्निंग जेट और ड्रोंस भी इसका हिस्सा थे।

जैश का सबसे बड़ा ट्रेनिंग कैंप

बालाकोट पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में हैं। 2005 में भूकंप के कारण यहां भयंकर तबाही मची थी। इतिहासकार आयशा जलाल के मुताबिक, बालाकोट कई मायनों में दक्षिण एशिया में जिहाद का केंद्र है। बालाकोट कश्मीर के दक्षिण और पूर्व में स्थित खगान घाटी जाने के लिए गेटवे भी है।

किसने क्या कहा

पीएम मोदी बोले, सुरक्षित हाथों में देश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुरू, राजस्थान में आयोजित सभा में कहा कि देश सुरक्षित हाथों में है और देश से ऊपर कुछ भी नहीं है। पीएम मोदी ने ‘सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा ' कविता पढ़ी। उन्होंने कहा कि उनके लिए खुद से बड़ा दल और दल से बड़ा देश है। उन्होंने भारत माता के जयकारे लगवाए और कहा, आपकी ये भावनाएं, आपका ये उत्साह आपका ये जोश मैं भली भांति समझ रहा हूं। आज एक ऐसा पल है..., आओ हम सभी भारत के पराक्रमी वीरों को सिर झुकाकर नमन करें।

राहुल का ट्वीट-वायुसेना को सलाम

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पाकिस्तानी सीमा में आतंकी शिविरों पर भारतीय वायुसेना द्वारा की गई कार्रवाई को लेकर वायुसेना के पायलटों को सलाम किया। गांधी ने ट्वीट कर कहा, मैं वायुसेना के पायलटों को सलाम करता हूं।

Share it
Top