Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सर्जिकल स्ट्राइक 2 : आधे घंटे में वायुसेना ने लिया पुलवामा का बदला, जैश का सबसे बड़ा कैम्प ध्वस्त, 1971 के युद्ध के बाद दूसरा सबसे बड़ा हवाई हमला

भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) के लड़ाकू जेट मिराज 2000 विमानों ने मंगलवार रात 3.:50 बजे से लेकर 4:05 बजे तक (पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वाह प्रांत) बालाकोट, मुजफ्फराबाद, और चकोटी में जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैम्पों पर बम गिराकर उन्हें नष्ट कर दिया।

सर्जिकल स्ट्राइक 2 : आधे घंटे में वायुसेना ने लिया पुलवामा का बदला, जैश का सबसे बड़ा कैम्प ध्वस्त, 1971 के युद्ध के बाद दूसरा सबसे बड़ा हवाई हमला
  • भारतीय वायुसेना की पाकिस्तान पर एयर स्ट्राइक मंगलवार सुबह 3:50 से 4:05 बजे के बीच
  • पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ घफूर ने कहा : उसके क्षेत्र में दिखे थे भारत के विमान
  • भारत ने कहा : जैश ए मोहम्मद कर रहा था फिदायीन हमलों की तैयारी, इसलिए कार्रवाई थी जरूरी
  • मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस हमले में 350 आतंकी समेत जैश के सीनियर कमांडर भी मारे गए
  • बालाकोट में इसे कैम्प को मसूद अजहर का साला यूसुफ अजहर चलाता था।

भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) के लड़ाकू जेट मिराज 2000 विमानों ने मंगलवार रात 3.:50 बजे से लेकर 4:05 बजे तक (पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वाह प्रांत) बालाकोट, मुजफ्फराबाद, और चकोटी में जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैम्पों पर बम गिराकर उन्हें नष्ट कर दिया। इसे कैम्प को मसूद अजहर का साला यूसुफ अजहर चलाता था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस हमले में 350 आतंकी मारे गए हैं। इसमें कई आतंकी और जैश के सीनियर कमांडर मारे गए हैं। भारत ने पिछली बार हवाई हमला 1971 में युद्ध काल में किया था।

12 दिन बाद लिया पुलवामा का बदला

भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने मंगलवार को तड़के नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर, पाकिस्तानी हिस्से में कई आतंकी शिविरों पर बम गिराए। यह कार्रवाई जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी गुट जैश ए मोहम्मद द्वारा किए गए आत्मघाती हमले के ठीक 12 दिन बाद की गई है। पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

पीएम मोदी ने की कैबिनेट समिति की बैठक

इंडियन एयर फ़ोर्स की इस कार्रवाई पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अवगत कराया। जिसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने सुरक्षा संबंधी कैबिनेट समिति की एक बैठक की, जिसमें वित्त मंत्री अरुण जेटली, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने हिस्सा लिया। सूत्रों ने दावा किया कि पाकिस्तानी हिस्से में बहुत नुकसान हुआ है।

पाक विदेश मंत्री बोले- भारत ने उकसावे की कार्रवाई की

इस्लामाबाद में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने विदेश कार्यालय में विचारविमर्श के लिए एक आपात बैठक बुलाई जिसमें उन्होंने पाक प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात की। उसके बाद उन्होंने कहा कि यह भारत का पाकिस्तान पर गंभीर अतिक्रमण है। भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ उकसावे की कार्रवाई की है और यह नियंत्रण रेखा का उल्लंघन है। यह नियंत्रण रेखा (एलओसी) का उल्लंघन है, और पाकिस्तान के पास आत्मरक्षा और पलटवार करने का अधिकार है।

पाक ने माना सीमा में घुसे भारतीय वायुसेना के विमान

पाकिस्तान सेना की मीडिया शाखा अंतर-सेवा जन संपर्क (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट किया कि भारतीय वायुसेना के विमान मुजफ्फराबाद सेक्टर से घुसे। पाकिस्तानी वायुसेना की ओर से समय पर और प्रभावी जवाब मिलने के बाद वह जल्दबाजी में अपने बम गिरा कर बालाकोट के करीब से बाहर निकल गए। जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है। भारतीय वायुसेना ने नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया है। पाकिस्तानी वायुसेना ने तुरंत जवाब दिया। भारतीय विमान लौट गए।

अलर्ट पर सेना

पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हमला होने के बाद भारत ने पश्चिमी सेक्टर में भारतीय वायु सेना के सभी अड्डों को अधिकतम अलर्ट पर रखा था। इसी हमले के बाद मोदी ने कहा था कि हमले का जवाब देने के लिए सशस्त्र बलों को पूरी छूट दे दी गई है। हमले के बाद भारतीय सेना ने राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर की यह कविता ट्वीट की है।

'क्षमाशील हो रिपु-समक्ष

तुम हुए विनीत जितना ही,

दुष्ट कौरवों ने तुमको

कायर समझा उतना ही।

सच पूछो, तो शर में ही

बसती है दीप्ति विनय की,

सन्धि-वचन संपूज्य उसी का जिसमें शक्ति विजय की।'

यह ट्वीट अतिरिक्त महानिदेशक, जन सूचना के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किया गया है।

पुलवामा हमले की जानकारी

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले के श्रीनगर जम्मू राजमार्ग पर अवंतिपुरा इलाके में 14 फरवरी बृहस्पतिवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी, जिसमें 40 जवान शहीद हो गए जबकि कई जवान घायल हो गए थे। इस हमले की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। पुलिस ने आतंकवादी की पहचान पुलवामा के काकापोरा के रहने वाले आदिल अहमद के तौर पर की है। उन्होंने बताया कि अहमद 2018 में जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हुआ था।

Loading...
Share it
Top