Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सुप्रीम कोर्ट ने दो पुलिस अफसरों को हटाया

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात के दो पुलिस अफसरों को नौकरी से हटा दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने दो पुलिस अफसरों को हटाया

गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात के उन दो वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को फौरन नौकरी छोड़ने का आदेश दिया है। ये पुलिस अधिकारी रिटायरमेंट के बाद फिर से नौकरी कर रहे थे।

इसे भी पढ़ें: 1984 दंगा मामलाः SC ने 199 केसों की जांच के लिए बनाया 2 जजों का पैनल

इन दोनों अफसरों पर फर्जी मुठभेड़ में भी शामिल होने के आरोप हैं। आरोपी अफसरों में एनके अमीन और टीए बरोट शामिल हैं। इन दोनों अफसरों ने कोर्ट में गुरुवार को कहा कि वे लोग आज से ही अपना-अपना पद छोड़ देंगे।

बता दें कि अमीन पिछले साल अगस्त में पुलिस अधीक्षक पद से सेवानिवृत हुए थे। जिसके बाद उन्हें गुजरात सरकार ने एक साल के लिए संविदा के आधार पर महिसागर जिले का पुलिस अधीक्षक नियुक्त किया था।

इसे भी पढ़ें: आर्टिकल 35 ए जिसपर सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा 6 हफ्तों में बड़ा फैसला

जानकारी हो कि अमीन सोहराबुद्दीन और इशरत जहां फर्जी मुठभेड़ मामले में अदालत में ट्रायल फेस कर चुके हैं। दूसरे अफसर टीए बरोट पिछले साल रिटायर होने के एक महीने बाद दोबारा अक्टूबर में वडोदड़ा में वेस्टर्न रेलवे के तहत डीएसपी बनाए गए थे।

बरोट को भी संविदा के आधार पर एक साल के लिए नियुक्त किया गया था। बरोट भी सोहराबुद्दीन फर्जी मुठभेड़ और सादिक जमाल मुठभेड़ केस में आरोपी रहे हैं। मुख्य न्यायाधीश जस्टिस जेएस खेहर और जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ की खंडपीठ ने उनकी नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका की सुनवाई की। जिसके बाद कोर्ट ने इन दोनों पुलिस अफसरों को तुरंत नौकरी छोड़ने का फरमान सुनाया।

Next Story
Top