Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सांई शंकराचार्य विवाद में दखल से सुप्रीम कोर्ट का इंकार, बताया धर्म का मामला

मुंबई के साईं भक्त इस मामले में सुप्रीम कोर्ट गए थे।

सांई शंकराचार्य विवाद में दखल से सुप्रीम कोर्ट का इंकार, बताया धर्म का मामला
X

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने साईं-शंकराचार्य विवाद में दखल देने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने कहा है कि इस मामले में दीवानी मुकदमा किया जा सकता है, लेकिन फिलहाल अदालत इसमें दखल नहीं देगी। साईं भक्तों ने अदालत से अपील की थी कि वो शंकराचार्य को साईं के खिलाफ बयानबाजी से रोकें। मुंबई के साईं भक्त इस मामले में सुप्रीम कोर्ट गए थे।

कोर्ट ने साईं चैरीटेबल ट्रस्ट की याचिका की सुनवाई के दौरान कहा कि यह आस्था से जुड़ा मामला है और वह इसमें किसी प्रकार का दखल नहीं दे सकता। यदि साईं की मूर्तियां मंदिरों से हटाई जाती हैं तो साईं भक्त इसकी शिकायत दीवानी अदालत या पुलिस से कर सकते हैं। याचिकाकर्ता ने विभिन्न मंदिरों से साईं की मूर्तियां हटाने के शंकराचार्य के बयान के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। इससे पहले दो न्यायाधीशों ने व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए मामले की सुनवाई से खुद को अलग कर लिया था।
फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए शंकराचार्य के प्रवक्ता पंडित अजय गौतम ने कहा कि अगर आपको किसी व्यक्ति विशेष से दिक्कत है तो आप निचली अदालत में जाएं। साईं ट्रस्ट के पास सुप्रीम कोर्ट के सवालों का जवाब नहीं था। वहीं साईं धाम के चीफ ट्रस्टी रमेश जोशी ने कहा कि अगर कोई भी साईं बाबा की मूर्ति को हटाता है तो समर्थक पुलिस के पास जाएं। अगर कोई साईं बाबा के खिलाफ गलत बयान कहता है तो उसके खिलाफ मुकदमा दाखिल करें। हिंदुस्तान में किसी भी आदमी को किसी की भी पूजा करने का अधिकार है। किसी को दखल देने की जरूरत नहीं है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, शंकराचार्य के आदेश पर कई मंदिरों से हटाई जा चुकी हैं मूर्तियां-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story