Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हाजी अली में महिलाओं की एंट्री पर रोक बरकरार, बोर्ड करेगा फैसला

बॉम्बे हाईकोर्ट ने महिलाओं के जाने पर लगी पाबंदी को हटा दिया था।

हाजी अली में महिलाओं की एंट्री पर रोक बरकरार, बोर्ड करेगा फैसला
नई दिल्ली. मुंबई हाईकोर्ट द्वारा हाजी अली की दरगाह पर हटी रोक को सुप्रीम कोर्ट ने फैसले पर रोक को बरकरार रखा है। सुप्रीम कोर्ट में बोर्ड ने कहा कि वह दो सप्ताह में प्रगतिशील फैसले से कोर्ट को अवगत कराएगा। जिसके बाद कोर्ट ने हाजी अली दरगाह में महिलाओं की एंट्री पर लगी रोक बढ़ा दी है। अब इस मामले की अगली सुनवाई 17 अक्टूबर को होनी है।
इंडियन एक्सप्रेस की न्यूज के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर दरगाह के एक प्वाइंट तक पुरुषों को जाने की इजाजत है और महिलाओं को नहीं तो ये दिक्कत की बात है। साथ ही कोर्ट ने कहा कि दरगाह को प्रोग्रेसिव स्टैंड के साथ सुप्रीम कोर्ट में आना चाहिए। कोर्ट ने पूछा कि सबरीमाला मंदिर मामले में इस मामले में क्या अंतर है। मुंबई की हाजी अली दरगाह के भीतरी भाग तक महिलाओं को जाने की इजाज़त के बॉम्बे हाइकोर्ट के आदेश के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। हाजी अली दरगाह ट्रस्ट ने हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी।
दरअसल बॉम्बे हाईकोर्ट ने 26 अगस्त को 2015 को महिलाओं के जाने पर लगी पाबंदी को असंवैधानिक बताते हुए हटा दिया था। हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से दरगाह जाने वाली महिलाओं को सुरक्षा मुहैया कराने को कहा है। 2011 तक महिलाओं के प्रवेश पर यहां कोई पांबदी नहीं थी। लेकिन 2012 में दरगाह मैनेजमेंट ने यह कहते हुए महिलाओं की एंट्री पर रोक लगा दी थी कि शरिया कानून के मुताबिक, महिलाओं का कब्रों पर जाना गैर-इस्लामी है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top