Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जानिए दूसरे देशों में पत्नी से शारीरिक संबंध बनाने के कानून क्या हैं

बुधवार को देश की सर्वोच्च अदालत ने एक ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए 77 साल पुराने कानून को बदल दिया

जानिए दूसरे देशों में पत्नी से शारीरिक संबंध बनाने के कानून क्या हैं

सर्वोच्च अदालत ने बुधवार को एक ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए 77 साल पुराने नाबालिग पत्नी से शारीरिक संबंध बनाने संबंधी कानून को बदल दिया।

कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए कहा कि 18 साल से कम उम्र की पत्नी के साथ शारीरिक संबध रेप माना जाएगा। ऐसे मामले में पति को 10 साल की कैद या फिर पॉक्सो एक्ट के तहत उम्रकैद की भी सजा हो सकती है।

आइए जानते हैं क्या है सुप्रीम कोर्ट का पूरा फैसला:

भारत में लड़कियों से शादी के लिए नयूनतम उम्र 18 वर्ष है। सहमति से सेक्स के लिए भी यही न्यूनतम सीमा है

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में आईपीसी की उस धारा (आईपीसी375-2) को असंवैधानिक बताया है। जिसके मुताबिक 18 साल की कम उम्र की पत्नी से उसका पति संबध बनाता है तो उसे रेप नही माना जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट के मुताबिक अगर पत्नी एक साल के भीतर अपनी शिकायत दर्ज कराती है। तो उसके पति पर रेप का मुकदमा चलेगा।

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद भारत में शादी, सहमति और मैरिटल सेक्स को लेकर एक कानून हो गया है। 1860 में आईपीसी के अस्तित्व में आने के बाद भारत में ऐसा पहली बार हो रहा है जब शादी, सहमति और सेक्स के लिए एक ही न्यूनतम उम्रसीमा 18 वर्ष तय की गई है।

दुनिया के देशों मे सहमति, शादी और सेक्स को लेकर क्या है कानून:

अमेरिका में माता-पिता की अनुमति के बिना शादी की उम्र लड़का-लड़की दोनो के लिए 18 साल है। वही सेक्स के लिेए सहमति की उम्र 16-18 साल के बीच तय की गई है।

भारत के पड़ोसी देश चीन में माता-पिता की सहमति के बिना शादी के लिए न्यूनतम उम्र लड़के के लिेए 22 साल और लड़की के लिए 20 साल है। सहमति से सेक्स के लिए न्यूनतम आयु 14 साल है।

रूस में माता पिता की सहमति के बगैर शादी के लिए न्यूनतम उम्रसीमा 18 साल और सहमति के साथ न्यूनतम उम्र सीमा 16 साल है। यहां सहमति से सेक्स की उम्र सीमा भी 16 साल रखी गई है।

यूके में माता-पिता की मर्जी के बगैर शादी की उम्र सीमा समान रूप से 18 साल है और सहमति के बगैर 16 साल है। सहमति से संबध बनाने की उम्र भी 16 साल है।

Loading...
Share it
Top