logo
Breaking

सुप्रीम कोर्ट ने पूछा नेस्ले मैगी क्यों खाना चाहिए...? वकील ने दिया ये जवाब

सुप्रीम कोर्ट के जज ने नेस्ले के वकील से कहा उन्हें लेड की मौजूदगी वाला नूडल क्यों खाना चाहिए? उन्होंन पहले तर्क दिया था कि मैगी में लेड की मात्रा परमीसिबल सीमा के अंदर थी, जबकि अब स्वीकार कर रहे हैं कि मैगी में लेड था।

सुप्रीम कोर्ट ने पूछा नेस्ले मैगी क्यों खाना चाहिए...? वकील ने दिया ये जवाब

खाद्य उत्पाद बनाने वाली दिग्गज कंपनी नेस्ले (मैगी) (Nestle Maggi) को गुरुवार को जोरदार झटका लगा। कंपनी ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में स्वीकार किया कि उसके सबसे लोकप्रिय एफएमसीजी उत्पाद मैगी में लेड की मात्रा थी। कोर्ट में मामले की सुनवाई के दौरान कंपनी के वकीलों ने इस बात को स्वीकार किया।

कोर्ट में मामले की चल रही सुनवाई के दौरान कंपनी के वकीलों की इस स्वीकारोक्ति से सरकार बनाम नेस्ले की लड़ाई एक बार फिर जोर पकड़ेगी। कोर्ट ने मैगी में लेड की मात्रा को लेकर एनसीडीआरसी द्वारा दर्ज कराए गए मामले पर सुनवाई की।

उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य सुरक्षा के मानदंडों को पूरा न कर पाने पर पिछले साल टनों की मात्रा में मैगी को नष्ट कर दिया गया था। इसके अलावा, सरकार ने मुआवजे के तौर पर 640 करोड़ रुपये की भी मांग की थी।

सुप्रीम कोर्ट के जज ने नेस्ले के वकील से कहा उन्हें लेड की मौजूदगी वाला नूडल क्यों खाना चाहिए? उन्होंन पहले तर्क दिया था कि मैगी में लेड की मात्रा परमीसिबल सीमा के अंदर थी, जबकि अब स्वीकार कर रहे हैं कि मैगी में लेड था।

Summary

The Supreme Court Thursday revived the government case in National Consumer Disputes Redressal Commission (NCDRC) against Nestle India seeking damages of Rs 640 crore alleging unfair trade practices, false labelling and misleading advertisements

Loading...
Share it
Top