Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महिलाओं के लिए जल्द आ रहे है बेहद पतले कंडोम, बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन का नया प्रयास

कंडोम और गर्भनिरोधक परिवार नियोजन में महिलाओं की भूमिका सुनिश्चित करने में मददगार साबित होंगे

महिलाओं के लिए जल्द आ रहे है बेहद पतले कंडोम, बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन का नया प्रयास
X
नई दिल्ली. माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स और मेलिंडा गेट्स के फाउंडेशन का महिलाओं के लिए नया तोहफा । बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन महिलाओं के लिए बेहद पतले कंडोम जो त्वचा जैसी मिलती-जुलती सामग्री से तैयार किए गए होगे । मेलिंडा गेट्स ने कहा की कंडोम और अन्य (अगली पीढ़ी के) गर्भनिरोधक शायद अगले साल हकीकत का रूप ले सकते हैं। इस तरह के कंडोम और गर्भनिरोधक परिवार नियोजन में महिलाओं की भूमिका सुनिश्चित करने में मददगार साबित होंगे ।
माइक्रोसाफ्ट के संस्थापक और परमार्थ कार्यों से जुड़े बिल गेट्स ने आज यहां कहा कि ऐसी सामग्री पर कुछ प्रौद्योगिकी है जो बेहद सूक्ष्म और प्रभावी अवरोध बनाए रख सकती हो। मुझे लगता है कि अगले साल तक हम जरूर यह देख पाएंगे कि क्या यह पर्याप्त है। सिएटल में गेट्स का 'बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन' इन महत्वपूर्ण परियोजनाओं का वित्त पोषण कर रहा है। भारत में परिवार नियोजन की जरूरत पर जोर देते हुए मेलिंडा गेट्स ने कहा कि फाउंडेशन ऐसी प्रौद्योगिकी पर काम कर रहा है जो महिलाओं को 'अधिकार तथा और अधिक विकल्प' देगी।
मेलिंडा गेट्स ने कहा, कंडोम के अलावा हम महिलाओं के लिए प्रौद्योगिकियों पर काम कर रहे हैं जो एक दशक में नहीं किया गया। उन्होंने कहा, उदाहरण के लिए लिस्टरीन मेथ जीभ में ही घुल जाता है। कुछ ऐसी ही प्रौद्योगिकी हो जिसका उपयोग महिलाएं अपनी योनि के लिए कर सकें और वह परिवार नियोजन में मददगार हो। मेलिंडा गेट्स ने कहा, मेरे लिए यह वास्तविक अविष्कार होगा क्योंकि यह महिलाओं को अधिकार देगा। मेलिंडा ने कहा कि करीब 4.3 करोड़ लोगों ने हमसे परिवार नियोजन की जरूरत के बारे में कहा।
गेट्स ने कहा, अगर आप दिल्ली जैसे शहरी इलाके में हैं तो यह आसान है लेकिन ग्रामीण इलाकों में महिलाओं में जागरूकता तो है लेकिन संसाधन नहीं है । भारत आए बिल एवं मेलिंडा गेट्स एक कार्यक्रम में लेखक चेतन भगत से बात कर रहे थे।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, कौन है मेलिंडा गेट्स -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story