Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

2012 में भारतीय आत्महत्या करने में सबसे आगे, डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट से हुआ खुलासा

हर साल आठ लाख से ज्यादा लोग आत्महत्या कर लेते हैं

2012 में भारतीय आत्महत्या करने में सबसे आगे, डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट से हुआ खुलासा
जिनेवा. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की रिपोर्ट में विश्व में सबसे ज्यादा आत्महत्या करने वाले लोग भारत में रहते है। इसी रिपोर्ट के अनुसार पूरी दुनिया में प्रति 40 सेकंड पर आत्महत्या की एक घटना होती है। यहां हर दिन 707 लोग अपनी जिंदगी खत्म कर लेते हैं। ये चौंकाने वाला खुलासा वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) की दक्षिण पश्चिम एशिया क्षेत्र पर 2012 के लिए जारी की गई रिपोर्ट में हुआ है।

डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया में हर 40 सेकंड में एक आदमी आत्महत्या कर लेता है। रिपोर्ट कहती है कि युवा व बुजुर्गों में आत्महत्या की प्रवृत्ति में तेजी से इजाफा हुआ है। आत्महत्या करने वालों में दक्षिण पश्चिम एशिया में कम और मध्यम आय वर्ग के लोगों का 39 प्रतिशत हिस्सा है। आंकड़े बताते हैं कि भारत में 2012 में 2,58,075 लोगों ने आत्महत्या कर ली थी। जिसमें महिलाओं की तुलना में पुरुषों की संख्या कहीं अधिक थी।

आत्महत्या करने वालों में 1, 58,098 पुरुष, जबकि 99,977 महिलाएं हैं। भारत में प्रति एक लाख की जनसंख्या पर आत्महत्या करने वालों का प्रतिशत 21.1 है। रिपोर्ट के अनुसार हर साल आठ लाख से ज्यादा लोग (हर 40 सेकंड में करीब एक व्यक्ति) आत्महत्या कर लेते हैं। गुयाना में यह दर प्रति 1,00,000 पर 44.2 है जबकि उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया में यह क्रमश: 38.5 और 28.9 है। साल 2012 के आंकड़े बताते हैं कि 75 फ़ीसदी आत्महत्या के मामले मध्यम और कम आय वाले देशों में हुए हैं।

नीचे की स्लाइड्स में जानिए,पूरी दुनिया में प्रति 40 सेकंड पर आत्महत्या की एक घटना होती है -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Top