Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मानसून की दस्तक: झारखंड-यूपी और बिहार में आंधी-तूफान का कहर, 42 लोगों की मौत

मौसम विभाग ने कहा कि अगले 48 घंटों के भीतर मानसून के कर्नाटक, उत्तर-पूर्व राज्यों और बंगाल की खाड़ी की ओर बढ़ने के लिए परिस्थितियां बेहतर हैं।

मानसून की दस्तक: झारखंड-यूपी और बिहार में आंधी-तूफान का कहर, 42 लोगों की मौत
X

देश में मॉनसून की दस्तक के साथ तीन राज्यों में आंधी-तूफान और बिजली गिरने से 42 लोगों की मौत हो गई। मंगलवार को केरल में हल्की और कर्नाटक के मेंगलुरु में भारी बारिश हुई और सड़कों पर पानी भर गया।

मौसम विभाग के अनुसार मानसून 1 जून तक तमिलनाडु और 5 से 10 जून के बीच छत्तीसगढ़ पहुंचने का अनुमान है। आंधी तूफान से पिछले 24 घंटें में बिहार के 19, झारखंड के 13 और यूपी के 10 लोगों की मौत हो गई।

झारखंड में पिछले 24 घंटे में वज्रपात से 13 लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए। मृतकों में चतरा के चार, रांची के तीन, पलामू व रामगढ़ के दो-दो और हजारीबाग व लोहरदगा के एक-एक लोग शामिल हैं।

बिहार में आंधी-तूफान के साथ बारिश के बीच बिजली गिरने प्रदेश के विभिन्न इलाकों में 19 लोगों की मौत हो गई जबकि छह अन्य व्यक्ति जख्मी हो गए।

इसे भी पढ़ें- RSS के कार्यक्रम में शामिल होंगे प्रणब मुखर्जी, कांग्रेस ने जताई आपत्ति, भाजपा ने दिया करार जवाब

प्रमुख सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी ने बताया कि उन्नाव जिले में सोमवार रात 6 लोगों की मौत हो गई जबकि तीन अन्य घायल हो गए। आंधी तूफान से कानपुर और रायबरेली में दो-दो लोगों की मौत की खबर है।

इधर, मौसम विभाग ने कहा कि अगले 48 घंटों के भीतर मानसून के केरल के बचे हुए हिस्सों, कर्नाटक, उत्तर-पूर्व राज्यों के कुछ हिस्सों और बंगाल की खाड़ी की ओर बढ़ने के लिए परिस्थितियां बेहतर हैं।

मौसम विभाग की वेबसाइट पर दिए गए मॉनसून के मानचित्र के अनुसार तमिलनाडु और केरल में मॉनसून 1 जून तक राज्य के अधिकांश भाग को अपने अधीन ले लेगा।

इसी के साथ मॉनसून उत्तर पूर्व के कुछ हिस्से को भी अपने अधीन ले लेगा। इसमें मिजोरम, त्रिपुरा और मणिपुर के कुछ इलाके शामिल हैं। वहीं, 1 जून से 5 जून के बीच कर्नाटक का काफी क्षेत्र, पूरा आंध्र प्रदेश और तेलंगाना का कुछ हिस्सा मॉनसून की बारिश से भीगेगा।

मॉनसून के इस समय में बाकी बचे उत्तर पूर्व के राज्य भी इसकी परिधि में आ जाएंगे। 5 जून से 10 जून के बीच मॉनसून और उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ेगा। इस दौरान मॉनसून महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, पश्चिम बंगाल के साथ-साथ बिहार के कुछ हिस्सों को अपनी आगोश में ले लेगा।

इसे भी पढ़ें- 'संपर्क फॉर समर्थन' की शुरुआत, अमित शाह ने पूर्व आर्मी चीफ दलबीर सिंह सुहाग से मुलाकात की

10 जून से 15 जून के समय में मॉनसून मध्य भारत और उत्तर भारत का काफी हिस्से पर छा जाएगा। इस दौरान गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड और बिहार के अलावा बचे हुए पश्चिम बंगाल के इलाके में मॉनसून की बारिश होगी।

मौसम विभाग के मानचित्र के अनुसार 15 जून से 1 जुलाई के बीच गुजरात के बचे हिस्से, राजस्थान के कुछ हिस्से, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल,पंजाब और हरियाणा के साथ साथ जम्मू-कश्मीर पर भी मॉनसून के बादल बारिश करेंगे।

कब कहां पहुंचेगा

1 जून से 5 जून- कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना

5 जून से 10 जून- छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, ओडिशा, पश्चिम बंगाल

10 जून से 15 जून- गुजरात, मध्य प्रदेश, झारखंड और बिहार

15 जून से 1 जुलाई- राजस्थान, दिल्ली, यूपी, उत्तराखंड, हिमाचल, पंजाब और हरियाणा

मेंगलुरु में राहत और बचाव कार्य

कर्नाटक में मेंगलुरु में मंगलवार को भी भारी बारिश हुई। यहां सड़कों पर पानी भर गया। जिसके बाद यहां राहत और बचाव कार्य शुरू किए गए हैं।

इधर, मध्य भारत में गर्म हवाएं

मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तरी और मध्य भारत में तापमान पर मानसून के आने का खास असर नहीं पड़ेगा। विभाग का कहना है कि पश्चिमी, पूर्वी राजस्थान के कुछ हिस्सों और मध्य प्रदेश में गर्म हवाएं चल सकती हैं।

मध्य प्रदेश में बीते 24 घंटों में खजुराहो देश में सबसे गर्म रहा, जहां तापमान 48.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story