Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गोलीबारी रोक दीजिए हमें बच्चे को दफनाना है

स्थानीय लोगों ने सुरक्षित इलाकों की तरफ जाना शुरू कर दिया है।

गोलीबारी रोक दीजिए हमें बच्चे को दफनाना है
X
श्रीनगर. मुर्दों को दफनाने के लिए भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पाक सेना की अंधाधुंध गोलीबारी जनाजा ले जा रहे लोगों को भी नहीं छोड़ रही है। हालांकि पाक सेना ने ऐसा पहली बार नहीं किया है बल्कि अतीत में भी वह ऐसा कई बार कर चुकी है। पिछले एक हफ्ते में जम्मू कश्मीर का पुंछ सेक्टर कई बार पाकिस्तानी सेना द्वारा सीजफायर उल्लंघन किए जाने की घटनाओं का गवाह बना है। इसी तरह का एक बाकया एलओसी पर लगी तारबंदी के लगते क्षेत्र में हुआ जब एक किशोर का अंतिम संस्कार किया जाना था।
16 वर्षीय तनवीर शुक्रवार को ही पाकिस्तान की ओर से हुई गोलाबारी में मारा गया था। उसके परिजन उसे एलओसी पर नूरकोट गांव में अपनी जमीन पर ही दफनाना चाहते थे, लेकिन बीच-बीच में पाकिस्तान की ओर से हो रही जोरदार गोलाबारी की वजह से वह ऐसा कर नहीं पा रहे थे। इसके बाद एक स्थानीय मस्जिद ने गोलाबारी रोकने की एक भावुक अपील कर मामले में दखल दिया। ग्रामीणों में डर का माहौल नए सिरे से गोलाबारी शुरू हो जाने की वजह से एलओसी से सटे गांवों में रहने वाले डरे हुए हैं।
स्थानीय लोगों ने सुरक्षित इलाकों की तरफ जाना शुरू कर दिया है। मच्छेल सेक्टर में तीन भारतीय फौजियों को मार डालने के बदले भारतीय सेना द्वारा किए गए काउंटर-हमले के बाद तीन हफ्ते तक सीमा पर शांति रही थी, लेकिन अब पाकिस्तान की ओर से सीजफायर फिर होने लगा है। सर्जिकल स्ट्राइके बाद कई बार सीजफायर उल्लंघन पाक कब्जे वाले कश्मीर में आतंकवादियों के लांच पैडों पर भारतीय सेना द्वारा पिछले साल 28-29 सितंबर को की गई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से जम्मू कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा तथा एलओसी पर पाकिस्तान की ओर से 400 से भी ज्यादा बार गोले बरसाने और गोलीबारी की कार्रवाई के जरिये सीजफायर उल्लंघन किया जा चुका है, जिनमें 14 सुरक्षाधिकारियों समेत 27 लोगों की जान जा चुकी हैं, और सही शब्दों में कहें तो इससे वर्ष 2003 में भारत-पाकिस्तान के बीच हुआ सीजफायर समझौता लगभग निष्प्रभावी हो चुका है।
लाउडस्पीकर से की अपील
राज्य विधान परिषद सदस्य जहांगीर मीर के मुताबिक, मस्जिद ने लाउडस्पीकरों पर घोषणा की, ‘आपने (पाकिस्तानी सेना) गोलाबारी में एक शख्स को मार दिया है। गोलाबारी रोक दीजिए। हम उसके लिए जनाजे की नमाज पढ़ना चाहते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story