logo
Breaking

एसबीआई ने दिया ग्राहकों को नए साल का तोहफा, घटाई न्यूनतम बैलेंस की सीमा

भारतीय स्टेट बैंक ने अपने 25 करोड़ ग्राहकों को नववर्ष का उपहार दिया है।

एसबीआई ने दिया ग्राहकों को नए साल का तोहफा, घटाई न्यूनतम बैलेंस की सीमा

पिछले साल अप्रैल से भारतीय स्टेट बैंक ने बचत खाताधारियों का न्यूनतम बैलेंस की सीमा, शहरी क्षेत्रों में 3,000 रुपए एवं ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ाकर 1,000 रुपए कर दिए थे। देश के सबसे बड़े बैंक के इस तरह से न्यूनतम सीमा बढ़ाने से कई खाताधारियों ने अपने अकाउंट बंद करवा लिए।

यह भी पढ़ें- मुंबई: सिनेविस्टा स्टूडियो में लगी आग, 7 दमकल गाड़ियां मौके पर

इतना ही नहीं पिछली तिमाही में भारतीय स्टेट बैंक ने न्यूनतम बैलेंस मैनटेन न रख पाने की वजह से अपने ग्राहकों से 1771 करोड़ रुपए वसूल किए। इस तरह देश की सबसे बड़ी बैंक के चार्ज वसूलने की वजह से खाताधारियों में जबरदस्त रोष था। ऐसे में भारतीय स्टेट बैंक का नया ऐलान खाताधारकों के लिए किसी तोहफे से कम नहीं है।

भारतीय स्टेट बैंक ने अपने 25 करोड़ ग्राहकों को नववर्ष का उपहार देते हुये न्यूनतम बैलेंस की सीमा शहरी इलाकों में तीन हजार रुपये से घटाकर एक हजार रुपये और अर्द्धशहरी तथा ग्रामीण इलाकों में घटाकर 500 रुपये कर दी है।

इतना ही नहीं एसबीआई अपने ग्राहकों के बैलेंस मैनटेन न कर पाने के चार्ज भी कम कर सकती है। बैंक ने आज बताया कि न्यूनतम बैलेंस की नयी सीमा जनवरी 2018 से प्रभावी हो गयी।

यह भी पढ़ें- गब्बर सिंह टैक्स बना ग्रास डिविसिस पॉलिटिक्स, जानें पूरा मामला

अब तक बैंक के ग्राहकों को मेट्रो शहरों तथा अन्य शहरी क्षेत्रों में न्यूनतम बैलेंस तीन हजार रुपये रखने होते थे। अर्द्धशहरी इलाकों में यह सीमा दो हजार रुपये तथा ग्रामीण क्षेत्रों में एक हजार रुपये थे।

Loading...
Share it
Top