Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

1 अप्रैल से आपकी सैलरी में होगा ये बड़ा बदलाव, जानें फायदा होगा या नुकसान

साल 2018-19 के बजट में अरुण जेटली ने स्टैंडर्ड डिडक्शन वापसी की घोषणा की है। जिसके तहत हर वेतनभोगी को 40 हजार रुपए का स्टैंडर्ड डिडक्शन मिलेगा।

1 अप्रैल से आपकी सैलरी में होगा ये बड़ा बदलाव, जानें फायदा होगा या नुकसान
X

साल 2018-19 के बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आम आदमी को Tax पर बड़ी राहत न देते हुए टैक्स स्लैब्स में कोई बदलाव नहीं किया। लेकिन सरकार ने आपकी सैलरी में एक बड़ा बदलाव किया है, जो 1 अप्रैल से लागू हो जाएगा।

इस बार के बजट में अरुण जेटली ने स्टैंडर्ड डिडक्शन वापसी की घोषणा की है। जिसके तहत हर वेतनभोगी को 40 हजार रुपए का स्टैंडर्ड डिडक्शन मिलेगा। आज हम आपको बता रहे हैं कि सरकार द्वारा यह स्टैंडर्ड डिडक्शन मिलने पर आपको कितना फायदा होगा या नुकसान।

क्या है स्टैंडर्ड डिडक्शन

ये आपकी इनकम को वो भाग होता है, जिस पर आपको कोई भी टैक्स नहीं देना होता है। इतना ही नहीं इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए आपको किसी तरह का कोई डॉक्यूमेंट नहीं देना होता है।

बता दें कि सरकार ने नए वित्त वर्ष में जहां आम आदमी को स्टैंडर्ड डिडक्शन का फायदा दिया, वहीं ट्रांसपोर्ट अलाउंस के 19200 रुपए और मेडिकल अलाउंस के 15 हजार रुपए का फायदा हटा दिया।

यह भी पढ़ें- 1 अप्रैल से बिगड़ जाएगा आपके घर का बजट, जानिए कौन सी चीजें होंगी महंगी और सस्ती

कितना फायदा

स्टैंडर्ड डिडक्शन से मेडिकल अलाउंस व ट्रांसपोर्ट अलाउंस की तुलना करें तो आपको पहले इन दोनों से 34200 रुपए का लाभ मिलता था। जबकि, स्टैंडर्ड डिडक्शन आपको 40,000 का मिलेगा। इस तरह से आपको 5800 रुपए (34200-40 हजार) के तौर पर मिलेगा।

हालांकि, जब इसकी तुलना कुल टैक्स देने से और एजुकेशन सेस से करेंगे तो 5800 रुपए का ये लाभ बहुत कम हो जाएगा।

वर्तमान में 2.5 लाख की आय पर कोई टैक्स नहीं देना होता। जबकि 2.5 से 5 लाख की आय पर 5% व 5 से 10 लाख की वार्षिक आय पर 20% और इससे ज्यादा की इनकम पर 30% का टैक्स लगता है।

इन बिंदुओं से समझिए

यदि आप 5% वाले टैक्स स्लैब में आते हैं, तो आपको स्टैंडर्ड डिडक्शन के तौर पर 290 रुपए का फायदा मिलेगा। वहीं अगर आप 20% वाले टैक्स स्लैब में आते हैं तो आपको 1160 रुपए जबकि 30% वाले टैक्स स्लैब में आने पर आपको 1740 रुपए का फायदा मिलेगा।

उदाहरण

अगर आपकी वार्षिक आय 5 लाख है तो आपको 5% का टैक्स देना पड़ता है लेकिन स्टैंडर्ड डिडक्शन का फायदा मिलने पर आपकी कुल टैक्सेबल आय 4 लाख 46 हजार रुपए हो जाएगी, इस तरह आपको इस पैसे पर टैक्स देना होगा।

अब 4 लाख 60 हजार पर आपको 5% के हिसाब से 10500 रुपए का टैक्स देना होगा। वहीं कुल टैक्स का 4% एजुकेशन सेस भी इसमें जुड़ेगा। इसका मतलब आपको पूरा टैक्स 10920 (10500+420) भरना होगा।

वर्तमान नियम

  • अभी आपको स्टैंडर्ड डिडक्शन का लाभ नहीं मिलता लेकिन मेडिकल और ट्रांसपोर्ट अलाउंस के तौर पर 34200 रुपए मिलते हैं। इस हिसाब से अगर आपकी कुल टैक्सेबल आय 5 लाख रुपए है।

  • अगर 5 लाख में से 34200 रुपये घटा दें तो आपकी कुल टैक्सेबल आय बनती है 465800 रुपए। इस आय पर 5% के हिसाब से टैक्स लगने पर आपको 10790 रुपए भरने पड़ते हैं। वहीं इसके साथ ही 3% एजुकेशन सेस जुड़ेगा, जिसके बाद आपको कुल टैक्स 11113.7 रुपये चुकाने होंगे।

सिर्फ 193 रुपए का फायदा

इस तरह से आप समझ सकते हैं कि वर्तमान के मुकाबले नए वित्त वर्ष में स्टैंडर्ड डिडक्शन लागू होने पर आपको बस 193.7 रुपए का फायदा होगा। इसी तरह से आप अन्य टैक्स स्लैब वाले लोगों को भी होने वाले फायदे की गणना कर सकते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story