Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

स्पेक्ट्रम नीलामी की प्रक्रिया शुरू, सरकार को 80 हजार करोड़ का होगा लाभ

यह 2जी और 3जी स्पेक्ट्रम की अब तक की सबसे बड़ी नीलामी है।

स्पेक्ट्रम नीलामी की प्रक्रिया शुरू, सरकार को 80 हजार करोड़ का होगा लाभ
नई दिल्ली. बहु-प्रतीक्षित स्पेक्ट्रम नीलामी मंगलवार को शुरू हो गई जिसमें आठ कंपनियां चार बैंड के स्पेक्ट्रम के लिए बोली लगा रही हैं। यह 2जी और 3जी स्पेक्ट्रम की अब तक की सबसे बड़ी नीलामी है जिससे सरकार को 82,000 करोड़ रुपये से अधिक जुटा सकती है।
तीन बैंड- 900 मेगाहर्ट्ज, 1,800 मेगाहर्ट्ज और 800 मेगाहर्ट्ज के कुल 380.75 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम की नीलामी की जा रही है। इसके अलावा 2,100 मेगाहर्ट्ज बैंड में देश भर के 22 दूरसंचार क्षेत्रों में 17 में 5 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम की भी बिक्री की जाएगी। मौजूदा कंपनियों को अपना स्पेक्ट्रम रीन्यू कराना होगा। साथ ही सर्विस और डाटा ग्रोथ जारी रखने के लिए रीन्युअल जरूरी है। वहीं रिजर्व प्राइस पर सरकार 80,000 करोड़ रुपये जुटा सकती है, जबकि अनुमानों के मुताबिक सरकार को 1 लाख करोड़ रुपये मिल सकते हैं।
आरक्षित मूल्य के आधार पर सरकार को 82,000 करोड़ रुपये से अधिक मिलने का अनुमान है। आइडिया सेल्यूलर के रीन्युअल वाले 9 सर्किल से आय का 72 फीसदी आता है और कंपनी के लिए यूपी(वेस्ट) और गुजरात में स्पेक्ट्रम पाना जरूरी है। भारती एयरटेल को 6 सर्किल में स्पेक्ट्रम का रीन्युअल करना होगा और 6 सर्किल से आय का 34 फीसदी हिस्सा आता है। वहीं रिलायंस जियो ने सबसे ज्यादा पैसे जमा किए हैं और कंपनी बढ़-चढ़कर बोली लगाने के लिए तैयार है।
केपीएमजी के रोमल शेट्टी का कहना है कि 900 मेगाहर्ट्ज काफी अच्छा स्पेक्ट्रम है इसलिए इसकी बोलियां काफी ऊंची होने का अनुमान है। वहीं 900 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम की तरह 2100 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम के लिए भी बोलियां काफी एग्रेसिव होने की संभावना है। इन स्पेक्ट्रम की नीलामी से सरकार को काफी कमाई होने का अनुमान है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, क्यों भाग नहीं लेगें बीएसएनएल व एमटीएनएल इस नीलामी में -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top