Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सोनीपत और पानीपत स्मार्ट सिटी बनने के काबिल: एसोचैम

दोनों ही जिले 100 स्मार्ट सिटीज परियोजना में शामिल होने की काबलियत रखते हैं।

सोनीपत और पानीपत स्मार्ट सिटी बनने के काबिल: एसोचैम
नई दि्ल्ली. असोसिएडेट चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ऑफ इंडिया (एसोचैम) के अनुसार दिल्ली एनसीआर में रियल एस्टेट के बूम ने सोनीपत और पानीपत की जमीनों को भी कीमती बना दिया है। यह दोनों ही जिले 100 स्मार्ट सिटीज परियोजना में शामिल होने की काबलियत रखते हैं। यह निष्कर्ष (एसोचैम) ने अपने ताजा अध्ययन में निकाला है।
एसोचैम ने इन दोनों जिलों की परियोजना में पैरवी के लिए मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर को एक पत्र भी लिखा है। एसोचैम के अनुसार, केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी '100 स्मार्ट सिटीज परियोजना' में सोनीपत व पानीपत को भी शामिल करके इस इलाके में 200 से 300 करोड़ रुपये तक का नया निवेश आकर्षित किया जा सकता है।

KEJRIWAL VS JUNG: नौकरशाह की तैनाती 'अवैध' घोषित, कार्यालय पर लगाया ताला

दिल्‍ली से नजदीकी का फायदा

रिपोर्ट में बताया गया कि राजधानी दिल्ली से नजदीक, कुंडली-पलवल-मानेसर (केएमपी) एक्सप्रेस-वे का तेजी से निर्माण, राजीव गांधी एजुकेशन सिटी में विश्व स्तरीय शिक्षण संस्थान, बड़े हाउसिंग व कमर्शल साइट्स, मजदूरों की उपलब्धता और मेट्रो का विस्तार आदि ऐसे प्रमुख कारण हैं, जिनकी वजह से इन इलाकों में डिवेलपमेंट तेजी से हो रहा है।

सरकार को देनी होंगी रियायतें

एसोचैम के राष्ट्रीय महासचिव डीएस रावत ने बताया कि टैक्स में छूट, डिवेलपमेंट चार्ज में रियायत और संबंधित अन्य अनुदान दिए जाने से क्षेत्र में आर्थिक विकास को और गति मिल सकती है। साथ ही इससे हरियाणा को भी फायदा होगा। उन्होंने बताया कि एसोचैम के आर्थिक अनुसंधान ब्यूरो (एईआरबी) द्वारा तैयार कराए गई रिपोर्ट के अनुसार सोनीपत तथा पानीपत ऐसे शहर हैं जो गुड़गांव की क्षमताओं की बराबरी कर सकते हैं।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य बातें -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top