Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अस्पताल से निकलते ही विपक्षी दलों के ध्रुवीकरण में जुटेंगी सोनिया

सोनिया गांधी को फूड प्वाइजनिंग की शिकायत होने पर उन्हें गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अस्पताल से निकलते ही विपक्षी दलों के ध्रुवीकरण में जुटेंगी सोनिया
X

हरिभूमि ब्यूरो/नई दिल्ली

सोनिया गांधी बीमार हैं। फूड प्वाइजनिंग की शिकायत पर उन्हें गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गुरुवार की बुलेटिन में अस्पताल के अध्यक्ष डीएस राणा ने कहा कि उनकी तबियत तेजी से सुधर रही है। उम्मीद की जा रही है कि शनिवार देर शाम तक कांग्रेस अध्यक्ष अपने आवास पर पहुंच जाएंगी।

अस्पताल से निकलने के बाद सियासी पारा आसमान पर होगा। राष्ट्रपति चुनाव के बहाने विपक्षी दलों को एक मंच पर लाने की मुहिम वो फिर शुरू करेंगी। सोमवार को उन्होंने तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को मिलने का न्यौता दिया है।

गत दिनों बेहद महत्वपूर्ण नक्सल बैठक से ममता बनर्जी गायब रही थीं। सोमवार की दिल्ली यात्रा कई मायने में महत्वपूर्ण होगी। नारदा घोटाले के सिलसिले में ईडी ने तृणमूल कांग्रेस नेताओं पर शिकंजा कसा हुआ है।

पहले ही चार सांसद जेल में हैं। कुछ और पर फंदा कस रहा है। इसकी आंच देर-सबेर ममता बनर्जी पर भी आने की संभावना है। नारदा, शारदा जैसे चिटफंड घोटालों के आरोप और जांच के बीच ममता बनर्जी, सोनिया गांधी मुलाकात को सियासी हलकों में गंभीरता से लिया जाएगा।

वैसे भी 2016 के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में कांग्रेस-वामदल गठबंधन से ममता बनर्जी बिदकी हुई थीं। जमी बर्फ विपक्षी एकता के बहाने पिघलती नजर आ रही है। आज के समय ममता बनर्जी को पश्चिम बंगाल में शासन होने के बाद भी केंद्रीय स्तर पर राष्ट्रीय दल के सहयोग की जरूरत है।

ममता बनर्जी 'वीक विकेट' पर होते हुए सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगी। जाहिर है उसमें राष्ट्रपति पद के लिए विपक्षी दल के साझा उम्मीदवार पर चर्चा के साथ आगामी 2019 के लोकसभा का मोर्चा भी तय होना है।

हाल ही में बीजद अध्यक्ष और ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और ममता बनर्जी के बीच बंद कमरे में बातचीत हुई थी उसके संदर्भ में भी कांग्रेस अध्यक्ष के साथ वार्ता होनी है।

ममता के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती से सोनिया गांधी की मुलाकात प्रस्तावित है। मायावती खुद 10 जनपथ मिलने आएंगी या सोनिया गांधी उनके दिल्ली स्थित आवास पर जाएंगी, अभी यह तय नहीं है।

उल्लेखनीय है कि विपक्षी दल की एकता का मोर्चा संभाले सोनिया गांधी ने पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राकांपा अध्यक्ष शरद पवार, सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी और सीपीआई नेता डी राजा से मुलाकात कर चुकी हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story