Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुब्रमण्यम स्वामी बोले- कैंब्रिज में वेटर थीं सोनिया गांधी, मैने लोकसभा में दिया था सबूत

स्वामी ने कहा सोनिया गांधी अपनी डिग्री कैंब्रिज की बताती हैं, लेकिन कैंब्रिज के लोगों का कहना है कि वे कैंब्रिज के एक रेस्टोरेंट में वेटर थी।

सुब्रमण्यम स्वामी बोले- कैंब्रिज में वेटर थीं सोनिया गांधी, मैने लोकसभा में दिया था सबूत
X

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने सोनिया गांधी पर निजी हमला किया है। उन्होने कहा कि सोनिया गांधी अपनी डिग्री कैंब्रिज की बताती हैं, लेकिन कैंब्रिज के लोगों का कहना है कि वे कैंब्रिज के एक रेस्टोरेंट में वेटर थी। उन्होंने कहा कि जब मैं कैंब्रिज में लैक्चर देने गया था तो वहां के लोगों से पूछा था कि सोनिया गांधी पढ़ने में कैसी छात्रा थी तो वहां के लोगों ने कहा कि वो यहां पढ़ी ही नहीं। सोनिया गांधी तो एक रेस्टोरेंट में वेटर थी। सुब्रह्मण्यम स्वामी देवर्षि नारद पत्रकारिता पुरस्कार सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे।

ये भी पढ़ें- लोगों को धोखा देने के पाप के लिए मोदी और शाह को अब 'प्रायश्चित' करना चाहिए- कांग्रेस

उन्होंने कहा कि इस संबध में वे कैंब्रिज से एक चिट्ठी भी लिखवाकर लाए थे, जिसे उन्होंने लोकसभा स्पीकर को दिखाया था। स्वामी ने बताया कि जब लोकसभा स्पीकर ने इस संबंध में सोनिया गांधी से पूछा तो उन्होंने कहा कि ये टाइपिंग मिस्टेक है। स्वामी का कहना है कि उन्होंने उस समय इस बात के जवाब में लोकसभा में कहा था कि इस टाइपिंग मिस्टेक को तो गिनीज बुक में देना चाहिए। उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी टाइपिंग मिस्टेक कैसे हो सकती है।
सुब्रमण्यम ने आगे कहा कि देश में कांग्रेस की सरकार रहते जवाहर लाल नेहरू को 1953 में भारत रत्न पुरस्कार दिया गया, लेकिन भारत के संविधान निर्माता डॉ. अंबेडकर को कांग्रेस ने भारत रत्न नहीं दिया था।उन्होंने कहा कि बाबा साहब अंबेडकर को पंडित कहा जा सकता है, लेकिन पंडित नेहरू को जवाहरलाल से ज्यादा कुछ भी नहीं कहा जा सकता।अंबेडकर ने वर्ष 1915 में अमेरिका के कोलंबिया विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में पीएचडी की, इसके बाद वे लंदन गए।
वहां से उन्होंने डॉक्टर ऑफ साइंस में लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में दूसरी पीएचडी की और वकालत में भी डिग्री हासिल की। उन्होंने कहा कि भारत में आने के बाद डॉ. अंबेडकर ने देश का संविधान तैयार किया, पंडित तो डॉ. अंबेडकर थे, जिन्होंने इतने विषयों में डिग्री हासिल की, लेकिन देश में कुछ लोग उन्हें आज भी भीमराव कहते हैं। जवाहर लाल नेहरू कैम्ब्रिज गए, परीक्षा में फेल हो गए। नेहरू परिवार में आज तक किसी ने कॉलेज की परीक्षा पास नहीं की है। डॉ. अंबेडकर को कांग्रेस सरकार ने भारत रत्न नहीं दिया, यहां तक की सरदार पटेल को भी भारत रत्न नहीं दिया।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story