logo
Breaking

जब सोनिया गांधी ने कहा- संसद में प्रणब मुखर्जी के नखरों की कमी खलेगी

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की प्रणब मुखर्जी को राष्ट्रपति बनाने की इच्छा नहीं थी।

जब सोनिया गांधी ने कहा- संसद में प्रणब मुखर्जी के नखरों की कमी खलेगी

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने 'द कोलिशन ईयर्स' किताब में कई बड़े खुलासे किए हैं। उन्होंने लिखा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की उनको राष्ट्रपति बनाने की इच्छा नहीं थी। इस लिए उन्होंने कहा कि प्रणब मुखर्जी के नखरों की कमी हमें खलेगी। अपनी तीसरी किताब 'द कोलिशन ईयर्स' में प्रणब मुखर्जी ने यह जिक्र किया है।

यह भी पढ़ेंः गुजरात चुनाव: गुजरात के दिल का दर्द सुनने आया हूं- राहुल गांधी

अपनी किताब में प्रणब ने लिखा था कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी उन्हें राष्ट्रपति बनाने की इच्छा नहीं थीं। सोनिया गांधी उन्हें अपनी पार्टी दिग्गज नेताओं में गिनती करती थीं और उन्हें लगता था कि यदि मुखर्जी राष्ट्रपति बन गए तो कांग्रेस के पास उनके जैसा दिग्गज नेता नहीं बचेगा। हालांकि सोनिया वह यह भी मानती थीं कि देश के सर्वोच्च पद के लिए उनसे काबिल नेता और कोई नहीं है।

मुखर्जी ने किताब में लिखा कि 25 जून 2012 को सात रेसकोर्स रोड में कांग्रेस वर्किग कमेटी की बैठक हुई थी। उसमें सोनिया व पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ,पार्टी पदाधिकारी,के अलावा सभी राज्यों के मुख्यमंत्री भी मौजूद थे।

अंततः राष्ट्रपति पद को चलाने के लिए उसे ग्रीन सिग्नल दिया था। 29 मई 2012 को राजनीतिक सचिव अहमद पटेल ने कहा कि सोनिया ने पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में अपना नाम अंतिम रूप दे दिया था लेकिन हामिद अंसारी के नाम पर भी विचार कर रही है।

यह भी पढ़ेंः गुजरात विधानसभा चुनाव: ये है पिछले 5 चुनावों का पूरा लेखा-जोखा

कांग्रेस अध्यक्ष का कहना था कि वह उन्हें सबसे अच्छा उम्मीदवार मानती हैं, लेकिन सरकार में उनकी जगह कौन लेगा सोनिया ने प्रणब से ही पूछा था कि अपने स्थान के लिए क्या किसी का नाम बता सकते हैं तब मुखर्जी ने कहा था कि जो फैसला कांग्रेस अध्यक्ष लेंगी वह मुझे मंजूर होगा।

Loading...
Share it
Top