Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''मैं और राजीव भी जाते थे मंदिर लेकिन वोटो के लिए कभी दिखावा नहीं किया'': सोनिया गांधी

कांग्रेस की पूर्व अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को इंडिया टुडे कॉन्क्लेव के एक इवेंट में देश की राजनीति पर अपने विचारों को रखा, वहीं विपक्ष पर खुलकर बोलती हुई नज़र आईं।

मैं और राजीव भी जाते थे मंदिर लेकिन वोटो के लिए कभी दिखावा नहीं किया: सोनिया गांधी
X

कांग्रेस की पूर्व अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को इंडिया टुडे कॉन्क्लेव के एक इवेंट में देश की राजनीति पर अपने विचारों को रखा, वहीं विपक्ष पर खुलकर बोलती हुई नज़र आईं।

राहुल गांधी एक बेहतर अध्यक्ष

सोनिया गांधी ने राहुल गांधी को कांग्रेस का सही अध्यक्ष बताते हुए कहा कि राहुल पर मुझे भरोसा है, वह अपनी जिम्मेदारी अच्छे से समझते है, मैं अब अध्‍यक्ष पद छोड़ने के बाद वे चिंतामुक्‍त हो गई हूं।

लोकतंत्र में खुली बहस की छूट होनी जरूरी

वही आगे अपनी बात को जारी रखते हुए उन्होंने कहां कि राजनीति आज एक अलग दौर से गुजर रही है। लोकतंत्र में खुली बहस की छूट होनी जरूर होनी चाहिए।

विरोध की आवाजों को दबाने की कोशिश

लेकिन आज लोगों के अभिव्यक्ति की आजादी पर खतरा मंडरा रहा है। उन्होंने भाजपा पर निशान साधते हुए कहा कि जो सत्ता में है वे पक्ष विरोध की आवाजों को दबाने की कोशिश कर रहे है।

भारत की ताकत हमेशा विविधिता में एकता

उन्होंने कहा कि आज राजनीति में लोगों को वोट के आधार पर बाटा जा रहा है। ये भारत के भविष्य के लिए उचित नहीं भारत की ताकत हमेशा विविधिता में एकता को लेकर है।

जनता के सम्‍मान का अपमान

सोनिया ने इस इवेंट में सवाल किया कि ‘क्‍या 26 मई 2014 के पहले वास्‍तव में भारत एक बड़ा ब्‍लैक होल था? केवल चार साल पहले यहां प्रगति, शांति और समृद्धि की शुरुआत हुई है ? क्या यह दावा हमारे जनता के सम्‍मान के खिलाफ नहीं।'

न्यायपालिका में तनाव का महौल

सोनिया गांधी ने न्यायपालिका में कुछ दिन पहले हुए न्यायधीशों के बीच विवाद पर कहा कि, न्यायपालिका में तनाव का महौल है जहां आरटीआई को देश में पारदर्शिता लाने के लिए लाया गया था,लेकिन आज यह कानून में अब इसको भी शांत कर के कही जमा कर दिया जाता है।

हम मंदिर में जाने का दिखावा नहीं किया

विपक्ष पर आगे निशाना साधते हुए सोनिया गांधी ने बोला कि भाजपा जनता को ये यकीन करने में कामयाब हो गई है कि, कांग्रेस एक मुस्लिम पार्टी है। जब मैं और राजीव गांधी के साथ यात्रा करते थे, तो हम मंदिरों में जाते थे और रहते भी थे मगर हमने कभी इसका दिखावा नहीं किया।

एक नई शैली को यकीनन विकसित करना होगा

आगे अपनी बात को जारी रखते हुए सोनिया कहां कि हमें लोगों के साथ लाने की एक नई शैली को यकीनन विकसित करना होगा। वहीं हमें यह ध्यान देना होगा कि हम अपने कार्यक्रमों और नीतियों को किस प्रकार तैयार करते हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story