Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जीएसटी काउंसिल की बैठकः जानें आपकी जेब पर कैसे पड़ सकता है असर

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) काउंसिल की 30वीं बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए। वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में कार सहित कई लग्जरी उत्पादों पर एक और सेस लगाए जाने पर विचार किया गया।

जीएसटी काउंसिल की बैठकः जानें आपकी जेब पर कैसे पड़ सकता है असर
X

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) काउंसिल की 30वीं बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए। वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में कार सहित कई लग्जरी उत्पादों पर एक और सेस लगाए जाने पर विचार किया गया।

यह सेस केरल सहित देश के कई राज्यो में आई बाढ़ के बाद आर्थिक हानि को कम करने के लिए लगाया जा सकता है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद पत्रकारों से मुखातिब हुए।

उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित केरल की पुनर्वास के लिए सेस की मांग पर विचार करने के लिए एक 7 सदस्यीय मंत्री समूह के गठन का फैसला लिया गया है। समिति के सदस्यों की जल्द ही घोषणा की जाएगी। जीएसटी परिषद की बैठक में यह पाया गया कि उत्तर-पूर्वी राज्यों में उपभोग करने में कोई राजस्व कमी नहीं है।

बढ़ सकते हैं सिगरेट और गुटखे के दाम

आपदा सेस लगने के बाद दीवारों को लाल करने के शौकीन लोगों की परेशानी बढ़ सकती है। मतलब आगर आपदा सेस लगता है तो गुटखा, सिगरेट, पान मसाला और तंबाकू उत्पादों में 5 से 8 प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है। इसके अलावा एसयूवी और बड़ी गाड़ियां भी महंगी हो सकती हैं।

इन राज्यों को भी फायदा देगा आपदा सेस

बाढ़ की स्थिति को देखते हुए अतिरिक्त सेस लगाया जा सकता है। केरल के अलावा हिमांचल और उत्तराखंड में भी बाढ़ ने कहर बरपाया है इसलिए इन राज्यों में भी सेस लग सकता है। हालांकि सेस किस तरह लगाया जाएगा इसपर स्थिति साफ नहीं है।
ज्यादा संभावना है कि काउंसिल मौजूदा सेस को ही बढ़ा दे। जीएसटी में फिलहाल सिर्फ क्षतिपूर्ति सेस लगाने का प्रावधान है। इससे मिलने वाली राशि को उन राज्यों को दिया जाएगा जहां कम राजस्व संग्रह हुआ है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story