Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस: CBI कोर्ट ने पूर्व DIG वंजारा को 8 साल बाद किया बरी

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह इस केस में पहले ही बरी हो चुके हैं।

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस: CBI कोर्ट ने पूर्व DIG वंजारा को 8 साल बाद किया बरी

बहुचर्चित सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस में गुजरात के पूर्व डीआईजी डीजी वंजारा को सीबीआई की कोर्ट ने 8 साल बाद जेल से रिहा कर दिया है।

मुंबई की सीबीआई कोर्ट ने सबूत के अभाव के चलते वंजारा और राजस्थान कैडर के आईपीएस अधिकारी एमएन दिनेश समेत 15 आरोपियों को रिहा कर दिया है।

इसे भी पढ़ेंः- PM मोदी ने लिया असम का जायजा, बाढ़ से निपटने पर किया विमर्श

बता दें कि इन दोनों अधिकारियों पर फर्जी एनकाउंटर का केस दर्ज था। 2005 में हुए सोहराबुद्दीन मुठभेड़ केस में वंजारा को 24 अप्रैल, 2007 को गिरफ्तार किया गया था। 2014 में सबूत के अभाव की वजह से जमानत दे दी थी।

वहीं आज सीबीआई की अदालत से जमानत मिलने के बाद वंजारा ने कहा कि हम दोनों को बेकसूर घोषित किया गया है। कहा कि हो सकता है कि भारतीय न्याय व्यवस्था बेहद ही धीरे से काम करती हो, पर वह न्याय जरूर देती है।

क्या है सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर केस

आपको बता दें कि 2005 में सोहराबुद्दीन शेख और उनकी पत्नी कौसरबी और उनके साथी तुलसीराम प्रजापति हैदराबाद से बस से महाराष्ट्र के सांगली जा रहे थे। पुलिस की एक टीम ने बस का पीछा करके तीनों को बस से उतार लिया और उनको अहमदाबाद ले गए। जहां उनको मार दिया गया।

इसे भी पढ़ेंः- भ्रष्ट बाबुओं पर मोदी सरकार की 'सर्जिकल स्ट्राइक' की तैयारी, 15 अगस्त से होगी कार्रवाई

कौन हैं वंजारा

डीजी वंजारा 1987 बैच के गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं। वंजारा को सोहराबुद्दीन केस में सितंबर 2014 में हाईकोर्ट ने जमानत दी और पिछले साल इशरत जहां फर्जी एनकाउंटर केस में वंजारा को इस शर्त के साथ जमानत मिली थी कि वो गुजरात नहीं जा सकते हैं।

Next Story
Share it
Top