Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सामाजिक कार्यकर्ता इरोम शर्मिला हुईं रिहा, जारी रखेंगी भूख हड़ताल

स्थानीय अदालत ने कहा कि राज्य सरकार इरोम पर आत्महत्या का प्रयास करने का आरोप नहीं लगा सकती है क्योंकि प्रशासन यह साबित नहीं कर पाया है कि वह आत्महत्या का प्रयास कर रही हैं। चानू के स्वास्थ्य बिगड़ती हालत के कारण उन्हें इम्फाल के जवाहर लाल नेहरू चिकित्सा विज्ञान संस्थान के स्पेशल वॉर्ड में भर्ती किया गया था जिसके कमरे को बाद में सब-जेल घोषित कर दिया गया था।

Next Story