Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

स्मृति ईरानी हुईं ट्रोल का शिकार, महज 15 मिनट में श्रीनगर से लेह पहुंचाने का किया था दावा

ईरानी ने अपनी पोस्ट में केंद्र सरकार की एक योजना का जिक्र किया था जिसमें कहा गया था कि केंद्र सरकार ने जोजिला के पास टनल को बनाने की मंजूरी दी है।

स्मृति ईरानी हुईं ट्रोल का शिकार, महज 15 मिनट में श्रीनगर से लेह पहुंचाने का किया था दावा

ट्विटर पर किसी न्यूज का स्क्रीन शॅाट शेयर करना मुसीबत पैदा कर सकता है ऐसा स्मृति ईरानी ने सोचा भी नहीं होगा।

4 जनवरी 2017 को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर का स्क्रीन शॅाट ट्विटर पर शेयर किया था जिसके बाद ट्विटर यूजर्स ने उनकी इस पोस्ट को फर्जी बताकर उन्हें ट्रोल कर दिया।

ईरानी ने अपनी पोस्ट में केंद्र सरकार की एक योजना का जिक्र किया था जिसमें कहा गया था कि केंद्र सरकार ने जोजिला के पास टनल को बनाने की मंजूरी दी है।

यह भी पढ़ें - छत्तीसगढ़: कोंडागांव में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, टिफिन बम के साथ तीन नक्सली गिरफ्तार

इस टनल के बनने से श्रीनगर और लेह के बीच की दूरी कम हो जायेगी और यह फासला महज 15 मिनट में तय किया जा सकेगा।

इसके बाद ट्विटर यूजर्स ने ईरानी की इस ट्वीट को ट्रोल कर दिया और कहा कि जिस परियोजना को मोदी सरकार ने मंजूरी दी है, उसे मनमोहन सिंह की सरकार 2013 में पहले ही मंजूरी दे चुकी है।

ट्विटर यूजर्स ने स्मृति को ट्रोल करते हुए कहा कि कृपया ट्वीट करने से पहले फैक्ट जांच लें। क्योंकि आप एक सम्मानित मंत्री हैं। कुछ यूजर्स ने कहा कि कृपया सही जानकारी ही शेयर करें।

यह भी पढ़ें - सनक गया है किम जोंग, उत्‍तर कोरिया के शहर पर ही दाग दी मिसाइल

फिर क्य़ा था कि ट्विटर यूजर्स स्मृति को सलाह देने लगे। एक यूजर्य ने कहा कि कृपया ट्वीट करने से पहले फैक्ट जांच लें। क्योंकि आप एक सम्मानित मंत्री हैं। कुछ यूजर्स ने कहा कि कृपया सही जानकारी ही शेयर करें।

एक यूजर्स ने तो इस पोस्ट पर चुटकी साधते हुये कहा कि श्रीमती जी टनल बनने से श्रीनगर से लद्दाख की दूरी 15 मिनट में पूरी नहीं होगी बल्कि टनल की दूरी 15 मिनट में पूरी होगी।

Share it
Top