Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रायबरेलीः स्मृति ईरानी ने राहुल पर किया हमला, बोली- जो अपना घर ना संभाल पाए, वह देश का क्या करेगा

लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर भाजपा के नेता पूरी तरह से सक्रिय हो गए है खास उन लोकसभा पर जहां काग्रेस की अभी भी मजबूत पकड़ बनी हुई है। इसी दौरान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अमेठी से लेकर रायबरेली में अपनी धाक जमाने के लिए कांग्रेस के निर्वाचन क्षेत्रों में दौरे कर रही हैं।

रायबरेलीः स्मृति ईरानी ने राहुल पर किया हमला, बोली- जो अपना घर ना संभाल पाए, वह देश का क्या करेगा
X

लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर भाजपा के नेता पूरी तरह से सक्रिय हो गए है खास उन लोकसभा पर जहां काग्रेस की अभी भी मजबूत पकड़ बनी हुई है। इसी दौरान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी अमेठी से लेकर रायबरेली में अपनी धाक जमाने के लिए कांग्रेस के निर्वाचन क्षेत्रों में दौरे कर रही हैं।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी शुक्रवार को रायबरेली के दौरे पर है। स्मृति ईरानी ने कहा कि कई वर्षों से गांधी परिवार रायबरेली का प्रतिनिधित्व कर रहा है, लेकिन फिर भी वे यहां समस्याओं को हल करने के लिए कभी भी मौजूद नहीं रहते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेताओं से उनके ही निर्वाचन क्षेत्रों में लोग अब उनसे कुछ भी उम्मीद नहीं करते हैं।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के सलोन विधानसभा क्षेत्र उस बात का ग्वाह हैं वर्षो से गांधी परिवार यहां का प्रतिनिधित्व कर रहा था, जो चुनौतिया इस क्षेत्र में बनी हुई हैं उनका कांग्रेस ने आज तक समाधान नहीं किया हैं।

उन्होंने कहा कि आज मेरा रायबरेली रेल कोच फैक्ट्री का दौरा हुआ और कहा कि जो लोग कांग्रेस में प्रत्यक्ष रूप से थे वे भाजपा में शामिल हुए है उन्होंने भी देखा है कि कैसे रायबरेली रेल कोच फैक्ट्री के बारे में 2010 में घोषणा की गई।

किन्तु जरनल मेनेजर पहली बार डेव्यूट हुआ है दिंसबर 2014 में। यूपीए के शासन में रायबरेली रेल कोच फैक्ट्री में कपूरथला से कोच लाया जाता था और उसक पर पेंट होता था उसको रायबरेली रेल कोच फैक्ट्री की उपलब्धि बताई जाती थी।

लेकिन अब नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में यहां पर 700 से ज्यादा कोच का निर्माण होता है इस प्रकार से निमार्ण हो रहा है, और अब तो लोग कहते है कि यहां मेट्रो का कोच भी उत्पादित हो सकता है तो संभावनाओं का प्रति, रायबरेली रेल कोच फैक्ट्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बनी हैं।

इससे बडा़ उदहारण हो नहीं सकता, इससे ज्यादा राष्ट्र क्या चाहेगा। रायबरेली के लोग तो इस बात से अवगत हैं लेकिन मैं आपकी आभारी हूं कि अब मीडिया के माध्यम से देश भी जान जाएगा।

उन्होने कहा कि जिनकी कॉसोटेंसी में 70-80 प्रतिशत से भी ज्यादा घर आज भी मिट्टी के बने हुए है। वे उनको नहीं सुधार पाए तो उनसे देश क्या अपेक्षा कर पाएगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story