Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बीती रात से दिल्ली-एनसीआर में कोहरे से बुरा हाल, विजिबलिटी न्यूनतम स्तर पर पहुंची

दिल्ली एनसीआर में बीते दिन धुंध की वजह से विजिबिलिटी 500 मीटर से भी कम हो गई थी।

बीती रात से दिल्ली-एनसीआर में कोहरे से बुरा हाल, विजिबलिटी न्यूनतम स्तर पर पहुंची

दो दिनों से दिल्ली-एनसीआर को लगातार दूसरे दिन भी जहरीली धुंध छाई हुई है। हवा में घुले प्रदूषक तत्वों की परत से बनी धुंध के अगले तीन दिनों तक और अधिक गहरा रहने की उम्मीद है। लोगों को दिल्ली में सांस लेने मुश्किल आ रही है। प्रदूषण का स्तर 475 तक पहुंच गया है।

दिल्ली के इन इलाकों में है ज्यादा धुंध

दिल्ली में प्रदूषण के बढ़ते स्तर की वजह से घर के बाहर निकलने पर 20 से 30 सिगरेट पीने जितना धुंआ आपके फेफड़ों तक पहुंचेगा यानि राजधानी की हवा सेहत के लिए बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंच गई है। इंडिया गेट, राजपथ समेत गाजियाबाद के इंदिरापुरम, वसुंधरा, वैशाली आदि इलाकों में भी सुबह जहरीली धुंध छाई रही।

ये भी पढ़ें - नोटबंदी की सालगिरह पर आधी रात को 'यूथ-कांग्रेस' का RBI के बाहर प्रदर्शन

धुंध की चादर में लिपटी दिल्ली में सांस लेना दूभर हो गया, लोगों को आंखों में जलन महसूस होती रही। इस मौसम की पहली गहरी धुंध पड़ी है, लेकिन प्रदूषण युक्त होने की वजह से लोगों को बेहद परेशानी उठानी पड़ी।

मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले दो तीन दिनों तक ऐसी ही स्थिति बनी रह सकती है। वायु प्रदूषण पंजाब और हरियाणा की ओर से आ रही हवा के साथ पहुंच रहा है।

आज कोहरे की सबसे ज्यादा मार स्कूली बच्चों पर पड़ती दिखी, क्योंकि कोहरे की वजह से कुछ मीटर तक देखने में भी परेशानी थी ऐसे में बच्चों के स्कूली वाहनों के साथ दुर्घटना की संभावनाएं ज्यादा थी।

विजिबलिटी न्यूनतम स्तर पर पहुंची

धुंध की अधिकता के चलते सुबह 7-10 बजे के बीच दृश्यता न्यूनतम स्तर पर दर्ज हुई। मौसम विभाग के अनुसार इस दौरान एयरपोर्ट पर 200 मीटर तक और सड़क मार्ग पर कई जगह 5-10 मीटर दूरी दर्ज हुई। न्यूनतम दृश्यता की वजह से रेल, हवाई व सड़क मार्ग पर बुरा असर पड़ा।

एयर पोर्ट पर रहा बुरा हाल

दिल्ली में कई हवाई उड़ान धुंध की वजह से एयरपोर्ट पर नहीं उतर सकी, जबकि 10-12 रेल भी अपने निर्धारित समय से दिल्ली नहीं पहुंच सकी। कोहरे की मोटी चादर में लिपटी राजधानी में सबसे ज्यादा कोहरा बाहरी, उत्तरी व पूर्वी दिल्ली में देखने को मिला। इनमें वह हिस्से शामिल हैं जो एनसीआर क्षेत्र से जुड़े हैं।

मौसम विभाग की मानें तो गत शुक्रवार तक पूरब से दक्षिण हवाएं बहने से नमी का स्तर बढ़ता चला गया। वैसे शनिवार व रविवार को मौसम शुष्क हुआ, उत्तर-पश्चिमी से आने वाली शांत हल्की हवाएं बहने से एनसीआर का पूरा क्षेत्र प्रभावित हुआ और सोमवार को घना कोहरा पड़ गया, जो अगले दो तीन रोज जारी रह सकता है।

दीपावली के दूसरे दिन 20 अक्टूबर को राजधानी में वायु प्रदूषण की हालत बेहद गंभीर स्थिति में पहुंच गई थी। हांलाकि न्यायालय के आदेश के चलते दीपावली को पटाखे चलाने में कमी आई थी।

लेकिन गाजीपुर सेनेटरी लैंडफिल साइड पर लगी आग ने दीपावली से पहले ही राजधानी का वायु प्रदूषण बेहद उच्च स्तर पर पहुंचा दिया था। वायु प्रदूषण को कम करने के लिए उपराज्यपाल अनिल बैजल से लेकर सरकार व स्थानीय निकायों ने कई घोषणाएं की, लेकिन आज के हालात बताते हैं कि घोषणाओं से आगे नहीं बढ़ा जा सका।

Share it
Top