Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दुनिया के बेस्ट एयरपोर्ट में भारत के छह शामिल, एएसक्यू ने जारी की सूची

पैसेंजर्स को वर्ल्ड क्लास सर्विस मुहैया कराने के लिए देश के 6 एयरपोर्ट को दुनिया के बेस्ट एयरपोर्ट में जगह मिली है।

दुनिया के बेस्ट एयरपोर्ट में भारत के छह शामिल, एएसक्यू ने जारी की सूची
X

पैसेंजर्स को वर्ल्ड क्लास सर्विस मुहैया कराने के लिए देश के 6 एयरपोर्ट को दुनिया के बेस्ट एयरपोर्ट में जगह मिली है। इन्हें एयरपोर्ट सर्विस क्वालिटी अवॉर्ड (एएसक्यू) 2017 की लिस्ट में अलग-अलग कैटेगरी में बेस्ट चुना गया। इसे एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल (एसीआई) ने जारी किया है।

बता दें कि एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) 11 साल से इंटरनेशनल काउंसिल के सर्वे में शामिल हो रहा है। पहली बार भारत के इतने एयरपोर्ट सिलेक्ट हुए हैं।

ये भी पढ़ें- नोबेल विजेता आंग सान सू ची से छिना प्रतिष्ठित मानवाधिकार सम्मान

एयरपोर्ट किस कैटेगरी में रहे सबसे अच्छे

अंतरराष्टीय सूची में लखनऊ को 20 से 50 लाख तक सालाना पैसेंजर ट्रैवल वाली कैटेगरी में 'बेस्ट एयरपोर्ट बाई साइज' चुना गया है। वहीं, इंदौर को 20 लाख से कम पैसेंजर ट्रैवल कैटेगरी में 'बेस्ट एयरपोर्ट इन रीजन' और अहमदाबाद को एशिया पैसिफिक रीजन का 'मोस्ट इंप्रूव्ड एयरपोर्ट' चुना गया। दोनों एयरपोर्ट इस बार लिस्ट में शामिल हुए।
कोलकाता और पुणे को 1.5 करोड़ पैसेंजर ट्रैवल कैटेगरी में और चेन्नई को 2.5 करोड़ पैसेंजर ट्रैवल कैटेगरी में 'बेस्ट एयरपोर्ट बाई साइज' चुना गया है। बता दें कि भारतीय एयरपोर्ट की एवरेज एएसक्यू रेटिंग में लगातार सुधार हो रहा है। इस बार 1-5 तक रेटिंग में 4.5 अंक मिले हैं, जो 2010 (3.6) से ज्यादा हैं।

पहले भी चुने गए बेस्ट एयरपोर्ट

2016 की लिस्ट में जयपुर और श्रीनगर को 20 से 50 लाख पैसेंजर ट्रैवल कैटेगरी में सिलेक्ट हुए थे। 2015 में जयपुर, लखनऊ, गोवा और त्रिवेंद्रम एयरपोर्ट भी बेस्ट रहे। वहीं, 2013 और 2014 में कोलकाता एशिया पैसिफिक रीजन में 'मोस्ट इंप्रूव्ड एयरपोर्ट' की लिस्ट में नंबर-1 पर रहा था।

दुनिया के 315 एयरपोर्टों पर किया गया सर्वे

एएसक्यू एक ग्लोबली ट्रस्टेड बैचमार्क प्रोग्राम है, जो किसी एयरपोर्ट से पैसेंजर के सफर के दौरान उनसे एक्सपीरियंस की जानकारी जुटाता है। इस दौरान दुनिया के करीब 315 एयरपोर्ट पर एक्सेस, चेक इन सिक्युरिटी, बेसिक फैसिलिटी, फूड समेत 34 सर्विस के लिए सर्वे किया जाता है।
खास बात ये है कि इस सर्वे पर एयरपोर्ट रेगुलेटरी ऑथॉरिटी ऑफ इंडिया, नीति आयोग और मिनिस्ट्री ऑफ सिविल एविएशन की भी नजर रहती है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story