Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

असम में करंट लगने से छह लोगों की मौत, मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश

असम के नौगांव जिले में बिजली के हाईवोल्टेज तार के एक तालाब में गिर जाने के चलते करंट लगने से 10 साल के एक लड़के समेत छह लोगों की शुक्रवार को मौत हो गयी तथा आठ अन्य घायल हो गये।

असम में करंट लगने से छह लोगों की मौत, मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश
X
असम के नौगांव जिले में बिजली के हाईवोल्टेज तार के एक तालाब में गिर जाने के चलते करंट लगने से 10 साल के एक लड़के समेत छह लोगों की शुक्रवार को मौत हो गयी तथा आठ अन्य घायल हो गये।
पुलिस ने बताया कि यह हादसा रुपोही क्षेत्र के अंतर्गत उत्तर खातूल गांव में उस समय हुआ जब लोग मछली पकड़ रहे थे।
असम बिजली वितरण कंपनी लिमिटेड (एपीडीसीएल) पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए गुस्साए स्थानीय लोगों ने कंपनी के एक कर्मचारी के घर पर हमला कर दिया।
असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने जांच के आदेश दिए हैं तथा एक उपमंडल अधिकारी समेत एपीडीसीएल के चार कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने बताया कि ग्रामीणों ने सुबह करीब पांच बजे देखा कि तालाब के ऊपर बिजली का हाई वोल्टेज तार ढीला होकर लटका हुआ है और उन्होंने एपीडीसीएल को इसकी सूचना दी।
ग्रामीणों ने दावा किया कि बिजली विभाग के कर्मचारियों ने उन्हें आश्वासन दिया कि तार में करंट नहीं है और इसलिए कुछ लोग मछली पकड़ने के लिए तालाब में उतरे लेकिन स्थानीय लोगों को सूचित किए बगैर सुबह करीब आठ बजे तार में करंट छोड़ दिया गया जिससे लोगों को करंट लग गया। जब शवों को तालाब से बाहर निकाला गया तो वे जले हुए थे या उनमें से धुआं निकल रहा था।
पुलिस ने बताया कि मृतकों की पहचान रफीकुल इस्लाम, जबर अली, हबीबुर रहमान, मैनुल इस्लाम, इनामुल इस्लाम और आशिफुल इस्लाम (10) के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि घायलों को नौगांव के बीपी सिविल अस्पताल ले जाया गया जहां उनमें से कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है।
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राज्य आपदा मोचन बल के कर्मचारी यह जांच करने घटनास्थल पर पहुंचे कि कहीं तालाब में कोई और शव तो नहीं है। घटना से गुस्साए स्थानीय लोगों ने इलाके में एपीडीसीएल के एक कर्मचारी के घर लाठी-डंडों से हमला कर दिया और उसके घर के फर्नीचर तथा वाहन में तोड़फोड़ की।
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इलाके में अतिरिक्त सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है तथा वरिष्ठ जिला सिविल तथा पुलिस अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे हैं। एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, घटना पर नाराजगी जताते हुए सोनोवाल ने अतिरिक्त मुख्य सचिव और एपीडीसीएल के चेयरमैन जिश्नु बरुआ से जांच के आदेश दिए हैं।
इसमें कहा गया है कि इस बात की जांच की जाएगी कि किन परिस्थितियों में यह हादसा हुआ और सरकार को जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपी जाएगी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर बिजली मंत्री तपन गोगोई, जल संसाधन मंत्री केसब महंत और एपीडीसीएल चेयरमैन स्थिति का जायजा लेने मौके पर पहुंचे। महंत ने प्रत्येक मृतक के परिजनों को ढाई-ढाई लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है।
साथ ही उन्होंने घटना की जांच के आदेश दिए। स्थानीय लोगों ने कहा कि एपीडीसीएल की लापरवाही से यह हादसा हुआ और उन्होंने प्रत्येक मृतक के परिजनों के लिए दस-दस लाख रुपये का मुआवजा मांगा तथा साथ ही परिवार के एक-एक सदस्य को नौकरी देने की मांग की।
पूर्व मुख्यमंत्री प्रफुल्ल कुमार महंत शोक संतप्त परिवारों से मिले और उन्होंने घटना की जांच के अलावा पर्याप्त मुआवजा दिए जाने की मांग की।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story