Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

समुद्र में पराक्रम दिखाने के 8 महीने बाद लौटी नेवी की 6 महिला आॉफिसर्स, रक्षा मंत्री ने किया स्वागत

सेना की 6 महिला आॉफिसर्स की टीम समुद्र में 8 महीने खतरों से खेलकर वापस वतन आ गई है। जहां उनका स्वागत रक्षा मंत्री निर्मल सीतारमण ने किया। रक्षा मंत्री ने इस मौके पर कहा की वह इन महिलाओं के सामने नम्र है। उन्होंने आगे कहा की महिलाओं की यह सफलता आदमी और महिलाओं दोनों के लिए प्रेरक है।

समुद्र में पराक्रम दिखाने के 8 महीने बाद लौटी नेवी की 6 महिला आॉफिसर्स, रक्षा मंत्री ने किया स्वागत
X

सेना की 6 महिला आॉफिसर्स की टीम समुद्र में 8 महीने खतरों से खेलकर वापस वतन आ गई है। जहां उनका स्वागत रक्षा मंत्री निर्मल सीतारमण ने किया। रक्षा मंत्री ने इस मौके पर कहा की वह इन महिलाओं के सामने नम्र है। उन्होंने आगे कहा की महिलाओं की यह सफलता आदमी और महिलाओं दोनों के लिए प्रेरक है।

यात्रा में क्या था खास -

भारतीय महीला सैनिकों की यह टीम 8 महीने तक समुद्र में धरती का चक्कर लगा रही थी। यह टीम अपनी यात्रा के दौरान विश्व के अनेक देशों की यात्रा की। यह यात्रा पिछले साल 10 सितंबर को शुरू हुई थी।

यह पूरी यात्रा 55 फुट की एक छोटी सी नाव में हुई। इस मिशन को नाविक सागर परिक्रमा नाम दिया गया था। इस मिशन का मकसद एशिया की महिलाओं द्वारा पहली बार समुद्री यात्रा से धरती का चक्कर लगाना था। भारतीय महिला सैनिकों ने अपना यह मिशन सफलता पूर्वक पूरा किया।

महिला टीम की कमान कमांडर वर्तिका थी। अपने सफर में यह मिशन 4 जगह रूका जिसमें आॉस्ट्रेलिया,न्यूजीलैड,फॉकलैंड,साउथ अफ्रीका शामिल था। मिशन की शुरुवात से पहले यह टीम प्रधानमंत्री मोदी से भी मिली थी।

इस मिशन के लिए भारतीय नौ सेना 2 साल से तैयारी कर रही थी। सेना की इन महिलाओं को इस मिशन के लिए 2 साल से प्रशिक्षण दिया जा रहा था। सेना ने इस मिशन की काफी तैयारी की थी। नाव कहां-कहां जा रही है? किन हालातों में महिला सैनिक है, पल-पल की पूरी जानकारी नौसेना के पास थी। सेना हर पल इस मिशन पर नजर रखे हुए थी।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story