Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

मदर टैरेसा की सहयोगी निर्मला जोशी का निधन, सियालदाह के सेंट जॉन स्कूल में अंतिम सांस

मिशनरीज ऑफ चैरिटी गरीब बच्चों की मदद व सामाजिक उत्थान के कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहा है

मदर टैरेसा की सहयोगी निर्मला जोशी का निधन, सियालदाह के सेंट जॉन स्कूल में अंतिम सांस
कोलकाता. फिर से छिन गया एक सहारा, फिर हो गए कई लोग अनाथ। जी हां मदर टैरेसा के बाद सबको सहारा देने वाली निर्मला जोशी का निधन हो गया। मिशनरीज ऑफ चैरिटी की प्रमुख सिस्टर निर्मला जोशी का 81 साल की उम्र में निधन हो गया है। मदर टेरेसा की मत्यु के बाद केवल एक सिस्टर निर्मला ही थी जिन्होने इस संस्था को संजोए रखा था।

IIT में अब इंजिनियर्स ही नहीं डॉक्टर्स भी बनाए जाएंगे, जानिए कैसे?

आपको बता दें कि 5 सितंबर 1997 में मदर टैरेसा की मृत्यु के बाद सिस्टर निर्मला जोशी को मिशनरीज ऑफ चैरिटी का मुखिया बनाया गया था। मिशनरीज ऑफ चैरिटी गरीब बच्चों की मदद व सामाजिक उत्थान के कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहा है। सिस्टर निर्मला ने सियालदाह के सेंट जॉन स्कूल में अंतिम सांस ली। उनका अंतिम संस्कार कल किया जाएगा। उनका पार्थिव शरीर कल सुबह मदर हाउस लाया जाएगा और शाम चार बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

सभी कर्मचारियों के लिए UAN होगा अनिवार्य, जानिए क्या होगा फायदा

चैरिटी के अधिकारी ने कहा, ‘‘जो कोई उनको श्रद्धांजलि अर्पित करना चाहता है वो कल मदर हाउस पहुंच सकता है।’’ मदर टेरेसा के निधन के छह महीने पहले 13 मार्च, 1997 को सिस्टर निर्मला को मिशनरीज ऑफ चैरिटी का सुपीरियर जनरल चुना गया था। कोलकाता में अप्रैल, 2009 में हुई जनरल चैप्टर की बैठक में सिस्टर निर्मला के बाद सिस्टर मैरी प्रेमा को सुपीरियर जनरल बनाने का फैसला हुआ था।

भूमि कानून में बदलाव किसानों के हित में :बीरेंद्र सिंह

राजनेताओं ने जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिस्टर निर्मला के निधन पर दुख जताते हुए कहा है कि उनका पूरा जीवन गरीबों और वंचितों की देखभाल व उनकी सेवा में बीता है। मुझे उनके निधन पर गहरा दुख हुआ है। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। वहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी सिस्टर के निधन पर दुख जताया है। ममता ने कहा कोलकाता समेत पूरा विश्व उन्हें हमेशा याद रखेगा।

नीचे की स्लाइड्स में देखिए, खबर से जुड़ी तस्वीरें -

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Share it
Top