Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राजनीतिक संकट के बीच सिरीसेना ने की पीएम विक्रमसिंघे की जिम्मेदारियों में कटौती

सिरीसेना ने सेंट्रल बैंक ऑफ श्रीलंका पर से विक्रमसिंघे का नियंत्रण हटा लिया है।

राजनीतिक संकट के बीच सिरीसेना ने की पीएम विक्रमसिंघे की जिम्मेदारियों में कटौती

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरीसेना ने देश में चल रहे राजनीतिक संकट के बीच प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे की जिम्मेदारियों में बुधवार कटौती कर दी। श्रीलंका फ्रीडम पार्टी एसएलएफपी और यूनाइटेड नेशनल पार्टी यूएनपी की गठबंधन सरकार संकट में आ गयी जब पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे की न्यू पार्टी ने स्थानीय चुनावों में शानदार जीत दर्ज की।

यह भी पढ़ें- 20 साल से था सपा-बसपा के समझौते के पक्ष में: आजम खान

इन चुनावों को सत्तारूढ़ गठबंधन पर जनमत संग्रह के तौर पर देखा जा रहा था। सिरीसेना ने सेंट्रल बैंक ऑफ श्रीलंका पर से विक्रमसिंघे का नियंत्रण हटा लिया। यह गठबंधन सरकार के समक्ष राजनीतिक संकट का और प्रकटीकरण है। प्रतिभूति एवं विनियम आयोग जो प्रधानमंत्री के अधीन था उसे भी सिरीसेना ने वित्त मंत्रालय के अंतर्गत ला दिया है।

यह भी पढ़ें- पंजाब: विधानसभा में हुक्का बार पर रोक लगाने वाला विधेयक पारित

सूत्रों ने बताया कि ये बदलाव प्रधानमंत्री की इच्छा के खिलाफ किये गए हैं। इन्हें आज जारी एक गजट अधिसूचना में प्रकाशित किया गया। यह कदम विक्रमसिंघे के खिलाफ अगले सप्ताह पेश होने वाले अविश्वास प्रस्ताव से पहले उठाया गया। यह अविश्वास प्रस्ताव राजपक्षे के नेतृत्व वाला संयुक्त विपक्ष ला रहा है। इस पर चार अप्रैल को चर्चा होगी।

विक्रमसिंघ का केंद्रीय बैंक को अपने नियंत्रण में लाने का कदम उन मुख्य आरोपों में से एक है जिसका जिक्र अविश्वास प्रस्ताव में किया गया है। प्रस्ताव में आरोप लगाया गया है कि केंद्रीय बैंक के 2015 में जारी बांड में धोखाधड़ी करने के लिये जानबूझकर यह कार्रवाई की गई थी।

इपुट भाषा

Next Story
Top