logo
Breaking

सिंधी कार्यकर्ता ने संयुक्त राष्ट्र को बताया- CPEC लॉन्चिंग के बाद तेजी से बढ़ रहे मानवाधिकार हनन के मामले

एक सिंधी राजनीतिक कार्यकर्ता ने संयुक्त राष्ट्र कार्यालय से सिंधी लोगों के खिलाफ पाकिस्तानी राज्य एजेंसियों द्वारा किए गए व्यापक मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों को संज्ञान में लेने को कहा।

सिंधी कार्यकर्ता ने संयुक्त राष्ट्र को बताया- CPEC लॉन्चिंग के बाद तेजी से बढ़ रहे मानवाधिकार हनन के मामले
एक सिंधी राजनीतिक कार्यकर्ता ने संयुक्त राष्ट्र कार्यालय से सिंधी लोगों के खिलाफ पाकिस्तानी राज्य एजेंसियों द्वारा किए गए व्यापक मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों को संज्ञान में लेने को कहा।
वर्ल्ड सिंधी कांग्रेस के हिदायतुल्लाह भुट्टो ने कहा, सिंधी राजनीतिक और मावाधिकार कार्यकर्ताओं के गायब होने के मामले निरंतर जारी हैं। जून 2018 के बाद से 25 सिंधी लोगों का अपहरण क लिया गया है जो प्रति माह 10 लोग हैं। फरवरी 2017 से लापता होने के 200 से अधिक मामलों की सूचना मिली है जिमें राजनैतिक कार्यकर्ता लोहर, खदीम, अरेजो, गुलाम शबीर भी शामिल हैं।
संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 39वें सत्र में हिदायतुल्लाह ने कहा, "अत्यंत उदासी के साथ हम यह रिपोर्ट करना चाहते हैं कि पाकिस्तान की एजेंसियों ने महिलाओं के साथ छेड़छाड़ कर आपराधिक कृत्य किए, जब उनके परिवार के लोगों का अपहरण किया गया।'
भुट्टो ने आगे संयुक्त राष्ट्र को बताया, चीन पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर लॉन्च होने के बाद से मानवाधिकार उल्लंघन के मामले कई गुना बढ़ गए हैं। उन्होने स्पष्ट किया कि पाकिस्तान की एजेंसियां लोगों की हर आवाज और संघर्ष को चुप करने के लिए एक टूल के रुप में लोगों का अपहरण कर रही हैं। न्यायिक प्रणाली में अपराधियों के लिए कोई दंड नहीं रखा गया है।
Loading...
Share it
Top