Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सिंगापुर ने दिया मोदी सरकार को झटका, नहीं देगा ब्लैक मनी की कोई जानकारी

सिंगापुर के इस फैसले से भारत को अधिकारिक सूत्रों के हवाले से आगाह किया गया है।

सिंगापुर ने दिया मोदी सरकार को झटका, नहीं देगा ब्लैक मनी की कोई जानकारी
नई दिल्ली. सिंगापुर ने भारत को झटका देते हुए कहा है कि वो भारत को अब मनी लॉन्ड्रिंग या इससे संबंधित मामलों में किसी भी प्रकार की सूचना स्वेच्छा से साझा नहीं करेंगे। सिंगापुर के इस फैसले से भारत को अधिकारिक सूत्रों के हवाले से आगाह किया गया है।
सिंगापुर का यह फैसला भारत के लिए महंगा साबित हो सकता है क्योंकि वैध और अवैध दोनों रूप से भारत में और भारत के बाहर आने-जाने वाले पैसों के बारे में पता लगाने के इंटरनेशनल फाइनैंशल हब के रूप में सिंगापुर उभरा है।

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक, सिंगापुर के गुस्से का कारण भारतीय मीडिया में प्रवर्तन निदेशालय के सूत्रों के हवाले से कांग्रेस नेता और उद्योगपति नवीन जिंदल के कथित अघोषित विदेशी बैंक खातों के बारे में रिपोर्ट का प्रकाशित होना है।
सिंगापुर के संदिग्ध लेनदेन रिपोर्टिंग अधिकारी (एसआरटीओ) ने इस रिपोर्ट को आड़े-हाथों लिया। जिंदल से संबंधित जानकारी एसटीआरओ ने भारत का हवाला दिए बगैर साझा की थी। एसटीआरओ भारतीय वित्तीय खुफियाई इकाई की समकक्ष एजेंसी है।
सिंगापुर अथॉरिटीज ने वित्त मंत्रालय को बताया है कि गोपनीयता के उल्लंघन के कारण वित्तीय खुफिया इकाइयों (एफआईयू) के बीच मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़ी जानकारी साझा करने की जो व्यवस्था बनी थी, अब कमजोर हो गई है। एफआईयू को एगमॉन्ट ग्रुप के नाम से भी जाना जाता है जिसमें भारत और सिंगापुर भी शामिल है।
इसके अलावा एक से ज्यादा सरकारी सूत्रों ने बताया कि दोनों देशों की खुफिया वित्तीय इकाइयों के बीच होने वाले सूचना के लेन-देन से अवगत थे। जब सिंगापुर के एसटीआरओ से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि मामले पर टिप्पणी करना अनुचित है। इस साल अप्रैल में ईडी के सूत्रों ने खुलासा किया था कि एजेंसी ने विदेशी विनियम अधिनियम के कथित उल्लंघन के लिए जिंदल और उनके परिवार के खिलाफ जांच शुरू की है क्योंकि सिंगापुर में एक स्विस प्राइवेट बैंक में उनके चार खाते हैं।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरी खबर-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top