Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत के लिए ''नासूर'' बन गया है पाकिस्तान: श्रीकांत शर्मा

नेता श्रीकांत शर्मा ने कहा सीमापार से पाकिस्तानी सैनिक यदि भारतीय सैनिकों एवं सीमांत क्षेत्रों में निवासियों पर अनावश्यक गोलीबारी करें तो जवानों को इसका जवाब गोलियां की बौछार से देना चाहिए।

भारत के लिए नासूर बन गया है पाकिस्तान: श्रीकांत शर्मा
X

उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता श्रीकांत शर्मा ने कहा है कि पाकिस्तान अब भारत के लिए नासूर बन गया है और सीमापार से पाकिस्तानी सैनिक यदि भारतीय सैनिकों एवं सीमांत क्षेत्रों में निवासियों पर अनावश्यक गोलीबारी करें तो जवानों को इसका जवाब गोलियां की बौछार से देना चाहिए। शर्मा ने कहा कि हमारे जवानों को कहा गया है कि वे ईंट का जवाब पत्थर से दें।

यदि पड़ोसी सैनिक गोलियां चलाने की पहल करें तो उन पर गोलियों की बौछार कर दें और तब तक जारी रखें जब तक कि वे जान बचाने के लिए बंकरों में छिपने के लिए मजबूर न हो जाएं। इसीलिए अब जवानों से गोलियों का हिसाब नहीं मांगा जाता। शर्मा यहां बुधवार को अखिल भारतीय व्यापार सभा द्वारा आयोजित व्यापार सम्मेलन में व्यापारी पहचान-पत्र योजना का शुभारम्भ करने पहुंचे थे।

यह भी पढ़ें- प. बंगाल: जलपाईगुड़ी में नॉमिनेशन के दौरान BJP-TMC कार्यकर्ता भिड़े, 1 पुलिसकर्मी सहित 26 लोग घायल

उन्होंने स्थानीय व्यापारियों को पहचान-पत्र वितरण की शुरुआत करते हुए इस कार्यक्रम को अन्य व्यापारिक वर्गों तक भी पहुंचाने की बात कही। शर्मा ने सम्मेलन के समापन सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि इस पहचान पत्र से व्यापारियों को सुरक्षा का अहसास होगा। यह एक बेहद अच्छी शुरुआत है। सरकार प्रदेश के हर जनपद में इस योजना को अंजाम तक पहुंचाने के लिए व्यापारी संगठनों की हर वाजिब मदद करेगी।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के राज में व्यापारी पूरी तरह से सुरक्षित हैं। वहीं पिछली सरकारों में भयंकर भ्रष्टाचार के चलते व्यापारी भय के वातावरण में जीने के लिए मजबूर थे। सरकार से जुड़े लोग ही व्यापारियों के अपहरण एवं फिरौती वसूली आदि अनैतिक कार्यों में लिप्त थे। उन्होंने दो अप्रैल के भारत बंद आयोजन में हिंसक घटनाओं की निंदा की।

यह भी पढ़ें- प. बंगाल: TMC कार्यकर्ताओं ने बीजेपी के राज्य सचिव पर किया हमला, कार्यकर्ताओं को लात-घूसों से पीटा- देखें वीडियो

व्यापार सभा के उपाध्यक्ष मुराली लाल अग्रवाल ने कहा कि फिलहाल यह योजना केवल चार जनपदों तक सीमित है, किंतु जल्द ही इसे अन्य जनपदों में भी लागू किया जाएगा। वैसे, व्यापारियों में सुरक्षा की भावना पैदा करने के लिए यह कार्यक्रम पहली बार 2006 में प्रारंभ किया गया था। जो किन्ही कारणों से बीच के वर्षों में अनियमित हो गया। अब इसे पुनर्जीवित कर पूरे राज्य में फैलाया जा रहा है।

इनपुट भाषा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story