Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बिहार: गया में SHO को दिनदहाड़े मारी गोली, पुलिस के हाथ खाली

कयामुद्दीन अंसारी सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले थे और तभी इस घटना को अंजाम दिया गया।

बिहार: गया में SHO को दिनदहाड़े मारी गोली, पुलिस के हाथ खाली
गया. बिहार में जनता के साथ-साथ अब पुलिस भी सुरक्षित नहीं है। बिहार मे हत्याओं का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। राजधानी पटना के फतुहा थानाक्षेत्र के एएसआइ की हत्या के बाद अब गया के इमामगंज के कोठी थानाध्यक्ष की आज सुबह हत्या कर दी गई। जानकारी के मुताबिक कुछ बाइक सवार अपराधियों ने एसएचओ की गोली मारकर हत्या कर दी और हथियार लहराते हुए भाग निकले। सोमवार सुबह कयामुद्दीन अंसारी सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले थे और तभी इस घटना को अंजाम दिया गया। पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी है। 2009 बैच के अधिकारी कयामुद्दीन कोठी थाने में बतौर एसएचओ तैनात थे।
दरअसल, कयामुद्दीन घर से कुछ दूर पहुंचे ही थे कि पहले से घात लगाए बैठे बाइक सवार तीन बदमाश उनके पास आए और उन्होंने कयामुद्दीन पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी। वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों आरोपी मौके से फरार हो गए। अभी लोग कुछ समझ ही पाते कि अपराधियों में से एक अपराधी बाइक से उतरा और उनके गोली लगे शरीर पर धारदार चाकू से भी वार किया। जब उन्हें लगा कि थानाध्यक्ष की सांसें रुक गई है तब बाइक पर बैठकर हथियार लहराते हुए वे भाग निकले। घटनास्थल पर लोगों की भीड़ लग गई। तुरंत पुलिस भी पहुंची लेकिन अपराधियों की किसी ने कोई पहचान नहीं बताई।
गोलियां लगने से कयामुद्दीन की मौके पर ही मौत हो गई। दिनदहाड़े हुई इस वारदात से इलाके में दहशत फैल गई। बता दें कि घटना को थाने से महज 200 मीटर की दूरी पर अंजाम दिया गया. पुलिस ने एसएचओ के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया है।
पुलिस ने बताया कि आरोपी मोटर साइकिल पर आए और कई गोलियां दागी। अंसारी की मौके पर ही मौत हो गई। इमामगंज के डीएसपी नंद किशोर घटनास्थल पहुंच गए हैं। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।
प्राथमिक जांच से पता चला है कि स्थानीय गिरोह ने ही इस घटना को अंजाम दिया है। हालांकि इस हत्या में नक्सलियों का हाथ नहीं है। बताया जा रहा है की एक साल पहले कोठी के थाना प्रभारी बनने के बाद इन्होंने लोकल अपराधी गिरोह पर नकेल कसना शुरू कर दिया था, जिससे ये अपराधी बहुत ही परेशान हो गए थे।
पटना में हुई थी एएसआइ की हत्या
इससे पहले बाइक सवार अपराधियों ने राजधानी पटना के फतुहा थानाक्षेत्र के फतुहा ओवरब्रिज के पास कानून-व्यवस्था को ठेंगा दिखाते हुए दिनदहाड़े एक पुलिस एएसआइ की हत्या कर दी और सर्विस पिस्टल भी लूट ली थी। अज्ञात अपराधियों ने एएसआइ को निशाना बनाते हुए गोली मारकर उनकी हत्या कर दी थी। स्थानीय लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी, जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर एएसआइ को इलाज के लिए फतुहा पीएचसी भेजा जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top